नालियां हुई जाम, ग्रामीणों को संक्रामक बीमारियों का बढ़ा खतरा

                 

फतेहपुर। विकास खंड बहुआ के मोहम्मदपुर गांव की नालियां गंदगी से बजबजा रही हैं। गांव की हर गली में जलभराव और गंदगी फैली हुई है। जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हैं। इससे लोगों को संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा सता रहा है। गांव में सफाई कर्मचारी की तैनाती होने के बावजूद नालियां गंदगी से भरी पड़ी है, इससे संक्रामक बीमारियां भी फैल रही है। जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही संक्रामक बीमारियों से ग्रामीण दहशतज़दा है।

स्वच्छ भारत मिशन योजना की खुली पोल

देश में स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत गांव एवं शहरी क्षेत्रों को गंदगी से मुक्त साफ-स्वच्छ रखने के प्रति शासन द्वारा पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है, इसके बावजूद बहुआ ब्लॉक के ग्राम पंचायत मोहम्मदपुर में बजबजाती नालियां सफाई व्यवस्था की पोल खोलती नजर आ रहीं हैं। यह गांव साफ-सफाई के मामले में फिसड्डी साबित हो रहा हैं। आलम यह है कि इस गांव की हर गली और नालियां कचराघर में तब्दील हो गईं हैं। नालियों का पानी खड़ंजों पर बह रहा है। जो ग्रामीणों के लिए दिक्कतों का शबब बना हुआ है।

ग्रामीण संक्रामक बीमारी की दहशत में जीने को मजबूर

गंदगी से पटे इस गांव की बदहाल व्यवस्था से लोग संक्रामक बीमारी के साये में जीने को मजबूर हैं। बावजूद इसके जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधी इस गंभीर समस्या को नजर अंदाज कर रहे हैं। रामकिशोर, अजेंद्र कुमार, श्यामकली आदि ग्रामीणों ने प्रशासन से गांव की बदहाल व्यवस्था दुरुस्त न कराने का ग्राम प्रधान को ज़िम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाया कि गांव में तैनात सफाई कर्मचारी सिर्फ प्रधान के व्यक्तिगत कार्यों और उनके घर की साफ सर्फाइ तक ही सीमित है।