थाना अध्यक्ष कर रहा है कमाल और मोरंग माफियाओं से रिश्वत की रकम लेकर हो रहा है मालामाल

अनिल श्रीवास्तव

फतेहपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोरंग माफियाओं के खिलाफ बड़ा बयान जारी करते हुए कहा था कि जिस जनपद में कालिंद्री के साथ छेड़छाड़ किया जाएगा उस जनपद के खनन अधिकारी और संबंधित क्षेत्र के थाना अध्यक्ष के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। मुख्यमंत्री का सपना भले ही समूचे प्रदेश में पूरा होता नजर आ रहा हो किंतु इस जनपद के ललौली थाना अध्यक्ष अमित मिश्रा ने भ्रष्टाचार की सारी सीमाओं को पार कर दिया है और उनके लिए शासन से लेकर जिला प्रशासन तक का आदेश पूरी तरह से फेल होता नजर आ रहा है। हालांकि जनपद के ईमानदार पुलिस अधीक्षक भी ललौली थाना अध्यक्ष की भ्रष्ट कार्यशैली को पूरी तरह से समझ चुके हैं और रिश्वत के खेल में खेलने वाले थानाध्यक्ष पर आचार्य संहिता के हटने के बाद पुलिस अधीक्षक का इतना कड़ा रुख अख्तियार होगा कि खाकी के सूरमा अपने भ्रष्टाचार की बेगुनाही का सबूत देते घूमते नजर आएंगे। जनपद में ललौली थाना क्षेत्र के मोरम घाटों में जिस प्रकार गैरकानूनी ढंग से खनन किया जा रहा है इससे पहले कभी भी शासन के निर्देशों की धज्जियां नहीं उड़ाई गई हैं। थाना अध्यक्ष कर रहा है कमाल और मोरम माफियाओं से रिश्वत की रकम लेकर हो रहा है मालामाल। यदि ललौली थाना अध्यक्ष भ्रष्टाचार को दरकिनार करके मोरम माफियाओं पर अपना कड़ा शिकंजा कस ले तो सरकार के हो रहे राजस्व विभाग की भारी-भरकम छती को पूरा कर सकते हैं किंतु ऐसा संभव नहीं है। वह पहले अपना पेट भरने की सोच रहे हैं तो फिर कैसे राजस्व विभाग को हो रही छती के बारे मे सोचेंगे।