तनाव दूर करने के साथ इम्यूनिटी भी बढ़ाती है चॉकलेट

चॉकलेट जहां रिश्तों में मिठास घोलती है वहीं इसका सेवन सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स तनाव दूर करने में मदद करते हैं। साथ ही इसका सेवन दिल के रोग, कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से बचाने में भी मदद करता है। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि चॉकलेट खाने से सेहत को क्या क्या फायदे मिलते हैं।

एक दिन में कितनी चॉकलेट खा सकते हैं?

40 ग्राम वजन वाली डार्क चॉकलेट में 190 कैलोरी होती है। एक्सपर्ट के मुताबिक, एक दिन में 30 से 60 ग्राम से अधिक चॉकलेट नहीं खानी चाहिए क्योंकि इससे कैलोरी काउंट बढ़ता है।

कैंसर से बचाव

शोध के अनुसार, डार्क चॉकलेट में फ्लेवोनोइड्स नामक फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं, जो एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करते हैं। इससे कैंसर से बचाव रहता है।

गठिया दर्द

चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनोइड्स नसों और धमनियों को ब्लॉक होने से रोकता है। इससे ना सिर्फ आप गंभीर बीमारियों सेबचे रहते हैं बल्कि भविष्य में जोड़ दर्द, गठिया से भी बचाव रहता है।

दिल को रखे स्वस्थ

डार्क चॉकलेट रक्तचाप को कंट्रोल करने में मदद करता है। इसस खून थक्के बनने के जोखिम को कम होता है और दिल में ब्लड सर्कुलेशन भी बढ़ता है। इससे स्ट्रोक, कोरोनरी हृदय रोग और हार्ट अटैक का जोखिम कम होता है।

इम्यूनिटी बढ़ाए

चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनोल्स इम्यूनिटी बढ़ाता है, जिससे शरीर को कई बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है। वहीं, कोरोना काल में इम्यूनिटी बूस्ट करना और भी जरूरी है इसलिए रोज डार्क चॉकलेट जरूर खाएं।

वजन घटाए

अध्ययन के मुताबिक, नियमित चॉकलेट का सेवन करने से बॉडी मास इंडेक्स कम होता है, जिससे वेट लूज में मदद मिल सकती है।

डिप्रेशन को भगाए

डार्क चॉकलेट में ऑक्सीडेटिव होता है जो तनाव पैदा करने वाले हार्मोन को नियंत्रित करता हैं। इससे डिप्रेशन, एंग्जायटी दूर होती है।

पीरियड्स में फायदेमंद

डार्क चॉकलेट में कोकोआ व मैग्नीशियम भरपूर होता है इसलिए यह नेचुरल पेनकिलर है। पीरियड्स में इसका सेवन क्रैम्प्स, टेंशन और शरीर में ऐंठन से आराम दिलाता है।