रोजाना 2 चम्मच खाएं गुलकंद, शरीर रहेगा ठंडा

गुलाब के फूल से तैयार गुलकंद खाने में स्वादिष्ट होने के साथ सेहत के लिए फायदेमंद होता है। गर्मियों में इसके सेवन से लू से राहत मिलती है। इसके अलावा यह हाथों-पैरों में होने वाली जलन को खत्म करता है। आयुर्वेद में इसका प्रयोग दवाइयां तैयार करने के लिए किया जाता है। गुलकंद में विटामिन सी, ई और बी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके सेवन से शरीर ठंडा रहता है और गर्मी के कारण होने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। आज हम आपको इसे बनाने का तरीका और इससे होने वाले फायदे बताएंगे, जिसे जानने के बाद आप भी इसका सेवन शुरू करेंगे।

गुलकंद बनाने का तरीका 

गुलकंद बनाने की सामग्री 

गुलाब की पंखुडियां- 200 ग्राम  

शक्कर- 100 ग्राम 

छोटी इलायची (पीसी हुई)- 1 टीस्पून 

सौंफ (पीसी हुई)- 1 टीस्पून

गुलकंद बनाने की विधि

1. गुलाब की पंखुडियों को धोकर किसी कांच के बर्तन में डालें।

2. फिर इसमें सारी सामग्री अच्छी तरह से मिलाएं और इसे ढक्कर 10 दिन धूप में रखें। 

3. इसे बीच-बीच में हिलाते रहें।

4. जब आपको लगे पंखुडियां गल चुकी है तो समझो गुलकंद बन कर तैयार है।

गुलकंद खाने के फायदे

शरीर को रखें तरोताजा

गुलकंद के सेवन से शरीर तरोताजा रहता है और पेट को ठंडक मिलती है। गर्मी के कारण होने वाली थकान, आलस्य, मांसपेशियों का दर्द और जलन आदि से छुटकारा से मिलता है। यह शरीर को एनर्जी देने वाला एक शीतल टॉनिक है।

नकसीर फूटने से बचाए

गर्मियों में तेज धूप लगने के कारण नकसीर फूटने के खतरा होता है। इससे बचने के लिए धूप में निकलने से पहले 2 चम्मच गुलकंद खाएं।

गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद

गर्भवती महिलाएं के लिए इसका सेवन बहुत फायदेमंद है। प्रेगनेंसी में अगर कब्ज की शिकायत हो तो इसे खाने से बहुत जल्दी छुटकारा मिलता है।

ग्लोइंग फेस

रोजाना गुलकंद खाने से फेस ग्लो करने लगता है क्योंकि यह ब्लड साफ करने में मदद करता है। इससे स्किन प्रॉब्लम जैसे, ब्लैकहेड्स, एक्ने और मुंहासों से भी छुटकारा मिलता है।

मुंह के छालों से मिले राहत

शरीर में गर्मी पड़ने पर कई बार मुंह में छाले होने लगते हैं। इस से राहत पाने के लिए सुबह-शाम 1-1 चम्मच गुलकंद खाएं। इसके अलावा यह मसूड़ों की सूजन से भी राहत दिलाता है।

दिमाग करें तेज

जिन लोगों को भूलने की आदत होती है उन्हें हर रोज दूध के साथ 1 चम्मच गुलकंद खाना चाहिए। इससे उनका दिमाग भी तेज होगा और उन्हें गुस्सा भी नहीं आएगा।