आंखों पर पड़े सफेद निशान कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत, इन तरीकों से पाएं छुटकारा

आपने अक्सर लोगों की आंखों के आसपास पपड़ीदार परत जमी हुई देखी होगी। इसके कारण आंखों के पास सफेद निशान पड़ने लगते हैं। इसे साफ करने व हटाने के लिए लोग क्रीम व अलग-अलग घरेलू नुस्खों को अपनाते हैं। मगर फिर भी कोई खास फायदा नहीं मिल पाता है। दरअसल, आंखों के इर्द- गिर्द जमा ये परत शरीर में कोलेस्ट्रॉल की अधिकता होने के कारण होती है। इसे जैंथेलाज्मा या डायस्लिपिडेमिया कहते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट अनुसार, इसके बढ़ने से हार्ट अटैक व अन्य बीमारियों की चपेट में आने का खतरा रहता है। भले ही आंखों पर जमा यह पपड़ीदार परत स्किन को कोई नुकसान नहीं पहुंचाती है। मगर इसके कारण चेहरे पर पड़े दाग-धब्बों, सफेद निशान से खूबसूरती फीकी पड़ने लगती है। इससे बचने व कोलेस्ट्रॉल डिपॉजिट को हटाने के आजकल कई मॉडर्न तरीके आ गए हैं। ऐसे में अगर आप इससे परेशान हैं तो इन तरीकों को अपना सकते हैं। इसके साथ ही हेल्दी डाइट को फॉलो करें...

लेजर

आप लेजर की तकनीक अपनाकर आंखों पर जमी कोलेस्ट्रॉल की पर्त को हटा सकते हैं। इससे आंखों पर जमा खराब त्वचा साफ होकर कुछ ही दिनों में नई स्किन आ जाती है। आप अच्छे से कॉस्मेटिक डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह लेकर इस ट्रीटमेंट को करवा सकती है।

सर्जरी

इसे रिमूव करने के लिए सर्जरी की तकनीक भी काफी कारगर मानी गई है। मगर इस दौरान स्किन टिशूज गलत तरीके से जुड़ने व सर्जरी के निशान पड़ने की समस्या हो सकती है। इसके अलावा कई मामलों में त्वचा का टिशूज गलत तरीके से जुड़ने से पलकें खराब होने की परेशानी हो सकती है। इसलिए इसे करवाने से पहले किसी एक्सपर्ट की सलाह लेना ना भूलें।

केमिलक पील्स

आप केमिलक पील्स की मदद से भी आंखों पर जमा कोलेस्ट्रॉल को हटा सकते हैं। इस ट्रीटमेंट में गर्म सुई को जलाकर प्रभावित जगह से उस त्वचा को साफ किया जाता है। इससे खराब स्किन साफ होकर नई त्वचा आने लगती है। मगर सेंसटिवी स्किन वाले मरीजों को इस ट्रीटमेंट के कारण साइड इफेक्ट होने का खतरा रहता है। इसके साथ ही ट्रीटमेंट पूरा होने पर आंखों पर कुछ कोलेस्ट्रॉल जमा रहने की समस्या हो सकती है।

फ्रीज थेरेपी

कोलेस्ट्रॉल डिपॉजिट को हटाने के फ्रीज थेरेपी भी काफी कारगर मानी गई है। इसमें डॉक्टर्स कायरोथेरेपी द्वारा कोलेस्ट्रॉल डिपॉजिट को फ्रीज करके इसे हटा देते हैं। इससे स्किन पर पड़े दाग- धब्बे साफ होने में भी मदद मिलती है। वैसे तो यह ट्रीटमेंट सुरक्षित हैं। मगर फिर भी इसे किसी एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही करवाएं। दरअसल, इसे करवाने के बाद स्किन का रंग कुछ हल्का हो सकता है। ऐसे में आंखों के आसपास और चेहरे के रंग में फर्क दिखाई देने लग सकता है।

इलेक्ट्रिक नीडल

इलेक्ट्रिक नीडल को इलेक्ट्रोडेसिकेशन भी कहा जाता है। इसमें आंखों के आसपास जमा कोलेस्ट्रॉल हटाने के लिए डॉक्टर्स गर्म सुई का इस्तेमाल करते हैं। इस दौरान गर्म सुई से प्रभावित स्किन को जलाकर त्वचा को साफ किया जाता है। उसके बाद अपने आप ही चेहरे पर नई त्वचा आने लगती है। लेकिन यह ट्रीटमेंट आंखों पर जमा कोलेस्ट्रॉल पूरी तरह से हटाने में कारगर नहीं है।

आंखों के पास जमा टैग्स को हटाने के लिए इस बातों का भी रखें ध्यान

. जंक, ऑयली व मसालेदार खाने से बचें।

. रोजाना ताजे फल और सब्जियां खाएं।

. दूध का सेवन करें।

. रोजाना 7-8 गिलास पानी पीएं।