सहारा व पर्ल कम्पनियों से निवेशकों का भुगतान कराने की मांग

सहारनपुर। सहारा व पर्ल से निवेशकों का पैसा दिलाने के लिए कांग्रेसियों ने आज जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर जिला प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को ज्ञापन प्रेषित कर कम्पनियों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही करने की मांग की। 

प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष चैधरी मुजफ्फर अली व महानगर अध्यक्ष वरुण शर्मा ने कहा उत्तर प्रदेश में पर्लस व सहारा ग्रुप की कंपनियों ने बचत जमा योजनाओं के नाम पर गरीब नागरिकों को बेहतर भविष्य के सपने दिखाकर उनसे उनकी बचत की हजारों करोड़ की रकम लूट ली। चैधरी मुजफ्फर ने कहा कि आज इन गरीब लोगों को न्याय दिलाने में नाकाम भाजपा सरकारों की भी कहीं ना कहीं लुटेरी कंपनियों से मिलीभगत है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इन पीडि़तों के साथ खड़े होकर उनकी लड़ाई लड़ने का जो फैसला किया है, उसे हम अंजाम तक पहुंचाएंगे और गरीबों को न्याय के साथ-साथ उनकी धनराशि की वापसी सुनिश्चित करेंगे।

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता शशी वालिया व एआईसीसी सदस्य जावेद साबरी ने इन गरीबों को न्याय दिलाने में असफल रही भाजपा सरकारों पर इन लुटेरी कंपनियों को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा कि  सरकारों का काम पीडि़तों को न्याय दिलाना होता है, लेकिन सेबी द्वारा 22 अगस्त 2014 को पर्लस ग्रुप की कंपनी को बंद करने का आदेश दिया गया था,  जिसके बाद सेबी ने कंपनी की सभी संपत्तियों को जब्त कर लिया था। वालिया ने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय के 2 फरवरी 2016 के आदेश द्वारा लोढ़ा कमेटी व सेबी को 6 महीनों के भीतर  निवेशकों का धन लौटाने  के आदेश का पालन आज 5 वर्ष बाद तक भी नहीं हुआ।

प्रदर्शनकारियों में वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री श्रीमती उमा भूषण, कांग्रेस जिला प्रवक्ता गणेश दत्त शर्मा,  जिला उपाध्यक्ष  मनीष त्यागी, जिला कोषाध्यक्ष हरिओम मिश्रा,  सोशल मीडिया के बिलाल खान व मोबिन गाढ़ा, पार्षद चंद्रजीत सिंह निक्कू, जिला सचिवगण, मधु सहगल, गुलफाम अंसारी व अक्षय चैधरी,  महानगर महासचिव इकराम खान, जव्वार अहमद, ब्लॉक अध्यक्ष चैधरी ग़ालिब, आरिफ मंसूरी, रवि कुमार, मनीष सहगल, चेतन लाल, नीरज कपिल, मांगेराम, अनीस अली, रिजवान अहमद, अश्वनी कुमार, इनाम मोहम्मद, शहजाद, सरला देवी, अंकिता, रजनी नौटियाल, उपमा सिंह, बिंदु, कलीम, सुरेंद्र, मोहित आदि कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ-साथ पर्लस कंपनी में निवेश करने वाले मोहन सिंह, संजीव कुमार सैनी, विनय सैनी, आशु गोयल, सोनल मित्तल, पारुल जैन, रामपाल, तरुण कुमार, राकेश कुमार सरोज, अजय जैन, प्रवीण जैन, रवि दत्त शर्मा आदि मुख्य रूप से शामिल हुए।