बेसहारा मवेशियों को ग्रामीणों ने पंचायत भवन में किया कैद

बांदा/नरैनी। रिसौरा गांव में किसानों की फसलों को बर्बाद कर रहे अन्ना जानवरों से त्रस्त होकर होकर रविवार को गांव वासियों ने दो सैकड़ा से अधिक बेसहारा पशुओं को पंचायत भवन के अंदर कैद कर दिया। आज तक गाव में गोशाला न बनने से गांव के लोगों ने विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया है। महुआ ब्लाक के ग्राम पंचायत रिसौरा में रविवार को गाव के किसान अरुण कुमार तिवारी, नरेश,दुर्गेश,अमित,राजू, नत्थू, राम खेलावन सहित दर्जनो किसानों ने बताया कि गांव में बेसहारा पशु सैकड़ों की संख्या में है। यह बेसहारा मवेशी आये दिन हमारी फसलों को चट कर बर्बाद कर रहे हैं। आज तक स्थानीय प्रशासन द्वारा गांव में गोशाला का निर्माण नहीं किया गया। हम लोगों ने कई बार इस बात को लेकर ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम प्रधान से गोशाला की मांग करते चले आ रहे हैं। 1076 नंबर में कंप्लेन किया। तहसील में प्रार्थनापत्र दिया वहां से आश्वासन मिला शीघ्र ही गौशाला बनाई जाएगी इसके बाद भी कुछ नही हुआ। गांव में गोशाला न बनने से नाराज दर्जनों किसानों ने आज दो सैकड़ा से अधिक बेसहारा पशुओं को पंचायत भवन के अंदर कैद कर दिया है।गांव वासियों ने गोशाला न बनने से नाराज होकर विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया है। खंड विकास अधिकारी महुआ संजीव बघेल ने बताया कि रिसौरा ग्राम पंचायत में स्थाई गोशाला बनाने हेतु कोई सरकारी जमीन नहीं है गांव के ही अनंतराम त्रिपाठी से जमीन का एग्रीमेंट कराकर बेसहारा पशुओं को संरक्षित किया जा रहा है। जिसकी खाने पीने की व्यवस्था ग्राम पंचायत कर रही है।