स्वतन्त्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध: जिलाधिकारी

बहराइच। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 के घोषणा के फलस्वरूप जनपद में प्रभावी आदर्श आचार संहिता का अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने के मद्देनजर जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ दिनेश चन्द्र व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी द्वारा कलेक्ट्रेट सभागार में राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर अपील की गयी कि विधानसभा निर्वाचन के दौरान फ्रेंडशिप स्प्रिट के साथ चुनाव लड़ें। सभी लोग मिलकर ऐसा प्रयास करें कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान जिले में उत्सव जैसा माहौल रहे। सभी को डर्टी पालीटिक्स से परहेज़ करने का सुझाव देते हुए डीएम व एसएसपी ने स्पष्ट किया कि स्वतन्त्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध है। आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के प्रयास की अनदेखी नहीं की जायेगी। इस सम्बन्ध में यदि कोई शिकायत प्राप्त होती है तो तत्काल एक्शन लिया जायेगा और सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी।

आदर्श आचार संहिता के अनुपालन तथा नाम निर्देशन पत्रों के दाखिला इत्यादि के सम्बन्ध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों की जानकारी प्रदान करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आयोग द्वारा आनलाइन नामांकन करने की सुविधा भी प्रदान की गयी है। आनलाइन आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को सभी सम्बन्धित दस्तावेज़ों के साथ नामांकन की हार्ड कापी भी जमा करनी होगी। राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से अपील की गयी कि कार्यकर्ताओं को भी आदर्श आचार संहिता के अनुपालन के संबन्ध में अपने स्तर से ब्रीफ कर दें।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी द्वारा राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को निर्वाचन सामग्रियों के प्रकाशन के सम्बन्ध में आयोग द्वारा जारी किये गये दिशा निर्देशों की विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए सभी से अनुपालन की अपेक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने बताया कि शासकीय भवनों, सार्वजनिक सम्पत्तियों, धार्मिक स्थलों तथा भवन स्वामी की अनुमति के बिना निजी सम्पत्तियों का उपयोग निर्वाचन के प्रचार-प्रसार के लिए नही किया जायेगा। डीएम डॉ. चन्द्र ने बताया कि आयोग द्वारा 15 जनवरी 2022 तक रैली, जनसभा, नुक्कड़ सभाओं, विजय जुलूस, पदयात्रा, बाईक व साइकिल रैलियों पर प्रतिबन्ध लगाया गया है। निर्वाचन पैम्फलेटों, पोस्टरों आदि के मुद्रण के सम्बन्ध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार कोई व्यक्ति किसी ऐसे निर्वाचन पैम्फलेट अथवा पोस्टर इत्यादि का मुद्रण या प्रकाशन नहीं करेगा अथवा मुद्रित या प्रकाशित नहीं करवायेगा जिसके मुख्य पृष्ठ पर मुद्रक एवं इसके प्रकाशक का नाम व पता न लिखा हो।

 वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने कहा कि आप सभी के सहयोग से जनपद में निर्वाचन प्रक्रिया को स्वतन्त्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण ढंग से भारत निर्वाचन आयोग की मंशानुरूप सम्पन्न कराया जायेगा। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों से पूरी सख्ती के साथ निपटा जायेगा। उन्होंने बताया कि निर्वाचन के दौरान गुड पुलिसिंग की व्यवस्था रहेगी। डीएम द्वारा सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से कोविड संक्रमण से बचाव के लिए आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करने तथा टीकाकरण के लिए लोगों को जागरूक करने की भी अपेक्षा की गयी।

प्रभारी अधिकारी व्यय अनुवीक्षण वरिष्ठ कोषाधिकारी अशोक कुमार प्रजापति ने निर्वाचन व्यय हेतु पृथक बैंक खाता खोलने, प्रत्याशी ऐजेंट नियुक्त करने, व्यय रजिस्टर भरने, भुगतान करने के बारे में आयोग के दिशा निर्देशों की जानकारी प्रदान की। बैठक के दौरान भाजपा के रणविजय सिंह, सपा के जफरूल्ला खॉ बन्टी सहित अन्य प्रदाधिकारियों द्वारा आश्वस्त किया गया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन के सम्बन्ध में आयोग की गाइडलाइन व जिला प्रशासन के दिशा निर्देशों का पालन किया जायेगा।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी मनोज, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार, डिप्टी कलेक्टर प्रशिक्षु पीसीएस अमन देओल, अधि.अभि. जल निगम सौरभ सुमन सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी, राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों में बीएसपी के अजय गौतम, आरएलडी के डॉ. अज़ीमुल्ला खॉ, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से सिद्धनाथ श्रीवास्तव, कांग्रेस से मुकुन्द जी शुक्ला, राष्ट्रवादी कांग्रेस से राजेश श्रीवास्तव मौजूद रहे।