ऑनलाइन

ऑनलाइन ऑनलाइन,

 ऑनलाइन का कमाल।

 इश्क तुझसे करने लगी ऑनलाइन,

 बात तुझसे करने लगी ऑनलाइन।

 सब राज सब बातें करें,

 हम तुम तो देखो ऑनलाइन।

 हर बात का संदेशा मिले फटाफट,

 देखो आजकल ऑनलाइन।

 प्रचार प्रसार का साधन ,

 कितना जबरदस्त है ऑनलाइन।

 व्हाट्सएप पर मैसेज कर लो,

 वीडियो कॉल से बातें कर लो ऑनलाइन।

 लगता जैसे आमने सामने बैठे,

 हम तुम देखो ऑनलाइन।

 लगे दिल भला कैसे किसी का,

 अब तू ही बता ऑफलाइन।

 वस्तु घर की खत्म हुई,

 मंगा लो देखो झटपट ऑनलाइन।

 बच्चों की पढ़ाई भी देखो,

 चलने लगी ऑनलाइन।

 छिपे हुए थे राज सारे,

 खुल गए देखो ऑनलाइन।

 नेट सर्वर डाउन की समस्या बढ़ी,

 हर काम देखो हो रहे  ऑनलाइन।

 पहचान मिलने लगी लोगों को,

 दायरा दोस्तों का बढ़ने लगा।

 देखो दोस्ती भी बढ़ने लगी ऑनलाइन।

 काव्य पाठ होते देखो नित ऑनलाइन,

 लोगों को हम बरसों  जैसे जानते ऑनलाइन।

 इंटरनेट देखो दुनिया के रंग ढंग बदल रहा,

 जीने की सारी कला दिखा रहा  ऑनलाइन।

 व्यापार भी देखो हो रहा आजकल ऑनलाइन।

 आना जाना कम हुआ बीमारी से बच लो,

 एक दूसरे के हाल-चाल पूछ लो ऑनलाइन।।

                       रचनाकार ✍️

                       मधु अरोरा