अखिलेश से मिलने पहुंचे जयंत चौधरी, लखनऊ में सीटों को लेकर हो सकता है बटवारा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की शुरुआत किसी भी समय हो सकती है। जिसके चलते सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव की तैयारियां में लगे हुए हैं। इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव लखनऊ में राष्ट्रीय लोकदल के सुप्रीमो जयंत चौधरी से मुलाकात कर सकते हैं। सपा और रालोद पार्टी के गठबंधन के बाद अब दोनों नेता चुनाव के लिए सीटों का बंटवारा कर सकते हैं। जानकारी के अनुसार, मुजफ्फरनगर और मेरठ की कुछ सीटों को लेकर दोनों नेता फैसला कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि जयंत ज्यादा सीटों की मांग कर रहे हैं, जिसके लिए अखिलेश इस बात से इनकार कर रहे हैं। वहीं, जयंत चौधरी इस बार पिछले एक साल आंदोलनकारियों के साथ खड़े रहे, जिसकी वजह से उनको सहानुभूति भी मिली और उनकी पार्टी को भी मजबूती मिली है। अब जयंत चौधरी पश्चिमी यूपी में जाट और मुस्लिम वोटरों के दम पर राजनीति का झंडा गाड़ने में लगे हुए है। गौरतलब है कि आरएलडी 2002 के चुनाव में बीजेपी के साथ गठजोड़ कर चुनावी मैदान उतरी थी, जिसमें उसे 14 सीटों पर जीत मिली थी। वही, 2007 के विधानसभा के चुनाव में आरएलडी अकेले चुनावी मैदान में उतरी तो इस बार उसे 10 सीटों पर जीत हासिल हुई। 2012 की विधानसभा चुनाव की बात करे तो आरएलडी ने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया, जिसमें उसे मात्र 9 सीटों पर जीत मिली। वहीं, एक बार फिर साल 2017 में आरएलडी ने अकेले चुनाव लड़ा, जिसमें 1 सीट पर जीत हासिल की। फिलहाल 2022 के 18 वीं विधानसभा चुनाव समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर लड़ने का फैसला किया है।