प्रेगनेंसी में कब लगवाएं कोरोना वैक्सीन, एक्सपर्ट से जानें सभी जबाव

कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो चुकी है। देश में नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में लोगों को सावधान रहने की हिदायत दी जा रही है। साथ ही वायरस को रोकने के लिए वैक्सीनेशन प्रोग्राम भी तेज कर दिया गया है। इसके अलावा वैज्ञानिकों द्वारा बूस्टर डोज देने की भी अपील की गई है। मगर, प्रेग्नेंट महिलाएं इस बात को लेकर चिंता में है कि क्या वो वैक्सीन लगवा सकती हैं। अगर, तो कब और कैसे? चलिए आपको बताते हैं कि प्रेगनेंसी में कब लगवाएं कोरोना वैक्सीन...

क्या प्रेगनेंसी में वैक्सीन लगवाना सुरक्षित?

गर्भवती और ब्रेस्टफीडिंग करवाने वाली महिलाएं वैक्सीन लगवा सकती है। सरकार ने इसके लिए गाइडलाइन भी जारी की है। केंद्र सरकार, आईसीएमआर और फॉग्सी ने मिलकर प्रेग्नेंट, ब्रेस्टफीड करवाने वाली और पीरियड्स के दौरान महिलाओं को कोरोना वैक्सीन लगवाने की परमिशन दे दी है।

गर्भवती महिलाएं कब लगवाएं वैक्सीन?

कई महिलाओं के मन में यह सवाल है कि उन्हें वैक्सीनेशन कब करवाना चाहिए। एक्सपर्ट के मुताबिक, अभी तक कोई भी ऐसा केस सामने नहीं आया, जिसमें वैक्सीन लगवाने से महिलाओं को डिलीवरी में दिक्कत आई हो या बच्चे में कोई जन्मजात असामान्यता देखी गई हो। ऐसे में प्रेग्नेंट महिलाएं किसी भी चरण में वैक्सीन लगवा सकती हैं। हालांकि एक्सपर्ट के मुताबिक, महिलाएं 28वें हफ्ते में वैक्सीन लगवाएं। इससे मां के साथ बच्चे में भी एंटीबॉडी बनने की संभावना रहती है।

क्या वैक्सीन से पहले करना होगा प्रेगनेंसी टेस्ट।

गाइडलाइन के मुताबिक, महिलाओं को वैक्सीन लगवाने के लघ्एि प्रेगनेंसी टेस्घ्ट करने की जरुरत नहीं हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि महिलाएं वैक्सीन के बाद भी प्रेगनेंसी प्लान या कंसीव कर सकती हैं।

क्या वैक्सीनेशन से शरीर में गर्मी पैदा होती है?

चूंकि प्रेगनेंसी में औरतों को गर्म चीजें कम खाने की सलाह दी जाती है। ऐसे में उनके मन में शंका है कि क्या टीके से शरीर में गर्म पैदा होगी। एक्सपर्ट के मुताबिक, प्रेगनेंसी में दवा खाने के लिए मना किया जाता है और एक्स-रे भी नहीं करवाया जाता लेकिन टीके के साथ ऐसी कोई समस्या नहीं है।

क्या डिलीवरी के आसपास वैक्सीन लगवाना सेफ?

एक्सपर्ट के मुताबिक, महिलाओं के लिए यह वैक्सीन बिल्कुल सेफ है। आप इसे डिलीवरी के एक हफ्ते के अंदर लगवा सकती हैं।

जिन्हें कंसीव करने में आई मुश्किलें, उनके लिए कितनी सेफ?

प्रेगनेंसी चाहे नेचुरली हो या किसी इलाज के जरिए, वैक्सीन का उसपर कोई असर नहीं होगा। हालांकि फिर भी बेहतर होगा कि आप इस बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

वैक्सीनेशन के बाद प्रेग्नेंट वुमन इन बातों का रखें ध्यान

. टीका लगवाने के बाद कम से कम 30 मिनट सेंटर पर रेस्ट करें

. इसमें माइल्ड लक्षण जैसे बुखार, सिरदर्द और चक्कर आ सकते हैं लेकिन इससे घबराने की बात नहीं। अगर समस्या ज्यादा हो तो डॉक्टर से सला लें।

. खानपान में परहेज ना करें और अपनी डाइट लें।

. जितना हो सके आराम करें।