कोरोना काल में खांसी-जुकाम होना अच्छे संकेत नहीं, इन घरेलू नुस्खों से पाएं आराम

मौसम के बदलने से सर्दी-जुकाम की चपेट में आना आम बात है। मगर इस समय दुनियाभर में फैले कोरोना के कारण इस दौरान सर्दी-जुकाम होना अच्छे संकेत नहीं है। असल में, इस वायरस के लक्षण आम सर्दी, खांसी, जुकाम की तरह है। ऐसे में इससे बचे रहने मे ही भलाई है। इसके लिए आप कुछ घरेलू चीजों का सेवन करके राहत पा सकती है। तो चलिए आज हम आपको मौसमी सर्दी-खांसी आदि से निजात पाने के लिए कुछ आसान उपाय बताते हैं...

आयुर्वेदिक पानी काढ़ा से कफ होगा कम

खांसी होने की वजह गले में कफ जमा होना होता है। इसके लिए आप आयुर्वेदिक पानी या काढ़ा बनाकर पी सकती है। इसके लिए 1 लीटर पानी में 10 तुलसी के पत्ते, थोड़ी-सी लौंग और अदरक डालकर उबालें। पानी का रंग बदलने पर इसे आंच से उतार कर हल्का ठंडा करके पीएं। इससे गला दर्द, खराश, कफ, सर्दी- जुकाम आदि से राहत मिलेगी। वहीं देशभर में लोग कोरोना से बचने के लिए इम्यूनिटी स्ट्रांग करने के लिए भी आयुर्वेदिक काढ़ा का सेवन कर रहे हैं। 

काली मिर्च और शहद से मिलेगा आराम

काली मिर्च और शहद गले संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने में माहिर होते हैं। इसके लिए रोजाना सुबह-शाम 1 छोटे चम्मच शहद में थोड़ी सा काली मिर्च पाउडर मिलाकर खाएं। 

हल्दी से बनेगी बात

हल्दी एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल आदि गुणों से भरपूर होती है। यह गले में पनप रहे बैक्टीरिया को खत्म करती है। ऐसे में इसे डेली डाइट में जरूर शामिल करें। वहीं रोजाना हल्दी वाला दूध पीना भी बेस्ट ऑप्शन है। इससे इम्यूनिटी बढ़ने में मदद मिलेगी। साथ ही सर्दी-जुकाम, खांसी, गला में खराश आदि समस्याओं से राहत मिलती है। साथ ही मौसमी बीमारियों से बचाव रहता है।

अदरक और शहद का बढ़ाएगा इम्यूनिटी

सर्दी-जुकाम, खांसी आदि मौसमी बीमारियों से निजात पाने के लिए अदरक और शहद का सेवन करना फायदेमंद होता है। इसके लिए 1 छोटा अदरक का टुकड़ा गैस पर गर्म करें। फिर चाकू से उसमें कुछ कट लगाएं। बाद में टुकड़े को शहद मिलाकर खाएं। इससे गले को फायदा मिलेगा। साथ ही अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव रहेगा।