तीखा तीर

बढ़ बोली  से टिकट मिलेगी 

पर  वोट  नहीं  मिल  पायेंगे  

जनता को क्या भेंड समझते 

जो  टिटकारी से चल आयेंगे 

जाति-पांती  खतम  हो  गई 

चुनाव ही जीत  नहीं पाओगे

     ----वीरेन्द्र  तोमर