बच्चे को लग गई है सर्दी तो तुरंत आराम दिलाएंगे ये घरेलू उपाय

ठंड के मौसम में छोटे बच्चों का ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत होती है। असल में, शिशु की इम्यूनिटी कमजोर होती है। ऐसे में उसका सर्दी, जुकाम, खांसी व अन्य मौसमी बीमारियों की चपेट में आने का खतरा अधिक रहता है। ऐसे में आज हम आपको कुछ खास टिप्स बताते हैं। इनकी मदद से आप शिशु को सर्दी लगने से सुरक्षित रख सकते हैं। इसके अलावा ठंड लगने पर उसे जल्दी रिकवरी करने में भी मदद मिलती है।

लिक्विड चीजें ज्यादा दें

बच्चे को सर्दी, खांसी, जुकाम होने पर उसे ज्यादा से ज्यादा लिक्विड चीजें दें। उसके शरीर को हाइड्रेटेड रखें। हेल्थ एक्सपर्ट अनुसार, शिशु के शरीर में पानी की कमी होने से उसे डायरिया हो सकता है। ऐसे में इससे बचने के लिए शिशु को दिनभर लिक्विड चीजों का सेवन करवाएं।

दिनभर पानी पिलाते रहे

बच्चे को ठंड से सुरक्षित रखने के लिए उसे दिनभर थोड़ा-थोड़ा गुनगुना पानी पिलाते रहे। इससे उसकी छाती में जमा बलगम हटने लगेगा। ऐसे में बंद नाक भी खुलने से शिशु को सही से सांस लेने में मदद मिलेगी।

स्टीम दें

हेल्थ एक्सपर्ट अनुसार, बच्चे को स्टीम देना फायदेमंद होता है। इससे शिशु की बंद नाक खुल जाएगी और सांस से जुड़ी परेशानी दूर होगी। इसके साथ ही ठंड कम होकर शरीर में गर्माहट महसूस होगी। मगर बच्चे को स्टीम देते दौरान बेहद सावधानी बरतें।

लहसुन और तेल की मालिश

आपने अक्सर अपनी दादी-नानी से लहसुन और तेल की मालिश के बारे में सुना होगा। यह मसाज शिशु के लिए बेहद फायदेमंद मानी जाती है। इससे बच्चे के शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। सर्दी, जुकाम व अन्य मौसमी बीमारियों से बचाव रहता है। ठंड कम होकर शरीर में गर्माहट का एहसास होता है। इसके लिए रात को सोने से पहले सरसों तेल में लहसुन की कली को गर्म करें। फिर इसे हल्का ठंडा करके उससे शिशु के शरीर की मसाज करें।

रोज नहलाना जरूरी नहीं

छोटे बच्चों की इम्यूनिटी कमजोर होती है। ऐसे में वे जल्दी ही वायरल इंफेक्शन, सर्दी, खांसी आदि की चपेट में आ सकते हैं। ऐसे में आप उन्हें रोजाना ना नहलाएं। इसकी जगह पर आप उन्हें स्पंज स्नान करवा सकती है। इसके लिए गुनगुना पाना में तौलिए को भिगोएं और उससे शिशु के शरीर को साफ करें। स्पंज स्नान बच्चे को कमरे में ही कराएं, क्योंकि बॉथरूम की तुलना में कमरे का तापमान बढ़ा हुआ रहता है।