3 जनवरी से लगेगी बच्चों को वैक्सीन, कौन सी होगी...कैसे करें रजिस्ट्रेशन? पैरेंट्स के मन में ये सवाल

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को भांपते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने बच्चों के लिए वैक्सीन ड्राइव का ऐलान किया है। 3 जनवरी से 15 से 18 साल तक के बच्चों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू होगा। पीएम के ऐलान के बाद हर बच्चों के माता-पिता के लिए कई सवाल है, जैसे कि बच्चों को कौन सी वैक्सीन लगेगी? इसके लिए रजिस्ट्रेशन कैसे होगा? वैक्सीन में तीन माह का अंतराल हुआ तो पेपर कैसे देंगे? पैरेंट्स के इन सारे सवालों के जवाब हम आपको दे रहे हैं...

कौन सी वैक्सीन दी जाएगी?

देश में अभी लोगों को कोवैक्सीन और कोविशील्ड की डोज लगाई जा रही है। ऐसे में मन में सवाल उठता है कि बच्चों को कौन सी वैक्सीन लगाई जाएगी। भारत के ड्रग्स कंट्रोलर जनरल इंडिया ने शनिवार को कुछ शर्तों के साथ 12 साल से अधिक उम्र के किशोरों के लिए भारत बायोटेक के कोविड-19 रोधी टीके कोवैक्सीन को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दे दी है। यह जायडस कैडिला द्धारा तैयार की गई बिना सुई वाले कोरोना रोधी टीके जायकोव-डी के बाद 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों-किशोरों के बीच उपयोग के लिए नियामक की अनुमति प्राप्त करने वाला दूसरा टीका है। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या यह बच्चों को दी जाएगी या नहीं? इसे लेकर अभी भी सवाल बना हुआ है। 

कैसे करें रजिस्ट्रेशन

फिलहाल देश में जो व्यवस्था है, उसके मुताबिक कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन कराना होता है। लेकिन 18 साल से कम उम्र के लोगों के लिए इसमें स्लॉट बुक करने की व्यवस्था नहीं है। क्या बच्चों के लिए भी कोविन ऐप पर ही इसकी व्यवस्था की जाएगी। यह सवाल बना हुआ है। संभावना है कि बच्चों के लिए अलग से सेंटर बनाए जाएंगे।

वैक्सीन में तीन माह का अंतराल हुआ तो पेपर कैसे देंगे?

18 साल से ऊपर के लोगों के वैक्सीनेशन में 90 दिन तक का गैप रखा गया था। बीच में इसमें कमी की गई। तीन जनवरी से बच्चों के लिए वैक्सीनेशन शुरू हो रहे हैं। एक्सपर्ट्स की माने तो अगर बच्चे मार्च-अप्रैल में एग्जाम देते हैं तो उनके दूसरे डोज की तारीख नजदीक आ चुकी होगी और अगर एक डोज ले भी लिया तो संक्रमण से काफी हद तक सुरक्षित रह सकते हैं। 

फ्री लगेगी या कोई कीमत वसूली जाएगी?

पैरेंट्स के सामने अहम सवाल है कि बच्चों की दी जाने वाली वैक्सीन के लिए कोई फीस वसूली जाएगी या इसे सरकार फ्री देगी। अभी 18 साल से अधिघ्क उम्र के लोगों को कोरोना की जो वैक्सीन लगाई जा रही है, उसमें दोनों तरह के विकल्प हैं। लोग सेंटरों पर इन्हें फ्री या प्राइवेट अस्पतालों में पैसा देकर भी लगवा सकते हैं। ऐसे में संभावना है कि बच्चों के लिए भी दोनों व्यवस्थाएं रहेंगी। 

वैक्सीन स्कूलों में लगेगी या सेंटरों पर?

वैक्सीन स्कूलों में लगाई जाएगी या फिर यह कोविड वैक्सीन सेंटरों पर लगेगी। अगर सेंटरों पर बच्चों को वैक्सीन लगती है तो उन्हें बड़ों के साथ ही खड़ा होना होगा। स्कूलों में वैक्सीन की व्यवस्था की जाती है तो बात अलग होगी। हालांकि, सरकार ने अभी इसे लेकर कोई औपचारिक ऐलान नहीं किया है।