IND vs SA: तीसरे दिन भारत पर भारी पड़े रबाडा और एनगिडी, 81 मिनट में सात बल्लेबाज हुए आउट

भारतीय टीम सेंचुरियन टेस्ट की पहली पारी में 327 रन पर सिमट गई है। तीसरे दिन 81 मिनट में उसके सात बल्लेबाज आउट हुए और टीम अपने पहले दिन के स्कोर में सिर्फ 55 रन ही जोड़ पाई। पहले दिन टीम इंडिया स्कोर तीन विकेट पर 272 रन था। दूसरे दिन बारिश के कारण खेल नहीं हो सका। तीसरे दिन दक्षिण अफ्रीका के कगिसो रबाजा और लुंगी एंगिडी ने कहर बरपाया और टीम इंडिया को बड़े स्कोर तक नहीं पहुंचने दिया।

पहले दिन नाबाद रहने वाले बल्लेबाज केएल राहुल और अजिंक्य रहाणे से टीम इंडिया को तीसरे दिन बड़ी पारी की उम्मीद थी। दोनों ने प्रशंसकों को निराश किया। राहुल अपने स्कोर में सिर्फ एक रन जोड़ सके और 123 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्हें रबाडा ने विकेटकीपर क्विंटन डीकॉक के हाथों कैच कराया। राहुल के आउट होते ही विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हो गया और कोई भी बल्लेबाज टिक नहीं सका।

खराब फॉर्म में चल रहे रहाणे पहले दिन शानदार बल्लेबाजी कर रहे थे। पहले दिन उन्होंने 40 रन बना लिए थे। तीसरे दिन सिर्फ आठ रन जोड़ सके और अर्धशतक बनाने से चूक गए। उन्हें एनगिडी ने डीकॉक के हाथों कैच कराया। रहाणे के बाद रविचंद्रन अश्विन चार रन बनाकर रबाडा, ऋषभ पंत आठ रन बनाकर एनगिडी, शार्दुल ठाकुर चार रन बनाकर रबाडा, मोहम्मद शमी 8 रन बनाकर एनगिडी और जसप्रीत बुमराह 14 रन बनाकर मार्को जानसेन का शिकार बने।

भारत के खिलाफ लुंगी एनगिडी हमेशा से कहर बरपाते रहे हैं। उन्होंने लगातार दूसरी बार सेंचुरियन में टीम इंडिया के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने 2017-18 में इस मैदान पर 39 रन देकर छह विकेट लिए थे। अब फिर से उन्होंने सेंचुरियन में छह विकेट अपने नाम किए हैं। हालांकि, इस बार 71 रन दिए। एनगिडी ने 2021 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ग्रॉस आइसलेट में 19 रन देकर पांच विकेट झटके थे।

इससे पहले भारत ने सेंचुरियन टेस्ट के पहले दिन तीन विकेट पर 272 रन बनाए थे। केएल राहुल ने पहले दिन अपना शतक पूरा किया था। वे दक्षिण अफ्रीका में टीम इंडिया के लिए शतक बनाने वाले दूसरे ओपनर बने थे। उनसे पहले वसीम जाफर ने ऐसा किया था। पहले दिन मयंक अग्रवाल 60 रन और विराट कोहली 35 रन बनाकर आउट हुए थे। चेतेश्वर पुजारा खाता नहीं खोल सके थे।