बर्फ की सफेद चादर से ढके उत्तराखंड के ये हिल स्टेशन

देहरादून : उत्तराखंड की वादियां बर्फ की सफेद चादर से ढक गईं हैं। मंगलवार रातभर राज्य के ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बर्फबारी हुई है। जिसके बाद पर्यटक इन हिल स्टेशनों का रुख कर रहे हैं। मुक्तेश्वर में भी बुधवार को बर्फबारी हुई। मुक्तेश्वर में मंगलवार की देर रात साल की पहली बर्फबारी को देख सैलानियों के चेहरे खिल गए। यहां बुधवार को भी बर्फबारी जारी रही। पिथौरागढ़ शहर के चंडाक में भी मौसम का पहला हिमपात हुआ है। प्रदेश के कई इलाकों में बुधवार को बारिश और बर्फबारी के आसार हैं। हालांकि सुबह से ही राजधानी देहरादून सहित आसपास के इलाकों में चटख धूप खिली रही। लेकिन दोपहर बाद मौसम खराब हो गया। चमोली जनपद में सुबह से मौसम खुला रहा। चमोली जिले में मंगलवार को दोपहर बाद से ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी शुरू हो गई थी, जो बुधवार को तड़के तक रही।

बदरीनाथ धाम के साथ ही औली, हेमकुंड साहिब, रुद्रनाथ, चोपता, कांचुलाखर्क और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई, निचले क्षेत्र की चोटियों पर भी बर्फबारी हुई, लेकिन बुधवार को धूप खिलने से बर्फ पिघल गई है। औली और गोरसों बुग्याल में भी जमकर बर्फबारी हुई है। यहां पर्यटक बर्फबारी का लुत्फ उठा रहे हैं। बदरीनाथ धाम परिसर में कम ही बर्फबारी हुई, लेकिन चारों ओर अभी भी करीब एक फीट तक ताजी बर्फ जमी हुई है। नैनीताल स्थित किलबरी रोड में मंगलवार की देर रात हल्का हिमपात हुआ। वहीं यहां ऊंची चोटियों पर मामूली बर्फबारी भी हुई है। 

बागेश्वर के ऊंचाई वाले क्षेत्रों शिखर भनार, शामा, पन्याली, लीती, रातिर गोगिना और मल्ला दानपुर में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। धानाचूली में भी अच्छी बर्फबारी हुई है। मुनस्यारी में मंगलवार रात से बुधवार तड़के तक बर्फबारी जारी रही। मुनस्यारी मुख्यालय में अब तक लगभग तीन इंच ताजा बर्फ जम चुकी है। बर्फबारी से थल मुनस्यारी मोटर मार्ग बंद हो गया है। जिस कारण वाहन मुनस्यारी जौलजीबी मार्ग होते हुए निकाले जा रहे हैं। औली में भी मंगलवार रात को बर्फबारी हुई। जिस कारण यहां कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। बर्फबारी की खबर सुनने के बाद पर्यटक भी इन हिल स्टेशनों का रुख करने लगे हैं।