नए कलाकारों की मोटी फीस की डिमांड से परेशान हुए करण जौहर, बोल डाली ऐसी बात

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में हर किसी को अपनी एक्टिंग का जलवा दिखाने का मौका नहीं मिलता। वही उन लोगो की तो चांदी ही हो जाती है जो करण जौहर की फिल्म से डेब्यू करते है। कुछ नए कलाकार ऐसे भी हैं जो चुनिंदा फिल्म करने के बाद मेकर्स से मोटी फीस की डिमांड करने लगते हैं। नए कलाकारों की ओर से मोटी फीस की डिमांड करने पर अब मशहूर निर्माता-निर्देशक करण जौहर ने अपना गुस्सा जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि वह नए कलाकारों की मोटी फीस की डिमांड से बहुत बार परेशान हो जाते हैं। निर्देशक का कहना है कि यह कलाकार करते कुछ नहीं है, बेवजह फिल्मों के लिए मोटी फीस मांगते हैं। करण जौहर ने हाल ही में मीडिया को इंटरव्यू दिया। इस इंटरव्यू में करण जौहर ने अपने फिल्मी करियर के लिए हर साल फिल्म इंडस्ट्री में आ रहे कलाकारों को लेकर भी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि मेगास्टार और ए लिस्टर कलाकारों के साथ समझौता करना समझ में आता है क्योंकि वह बिजनेस लाकर देते हैं, लेकिन वह नए कलाकारों की डिमांड को लेकर काफी कंफ्यूज रहते हैं। करण जौहर ने उन नए कलाकारों के लिए भी हैरानी जताई जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान भी अपनी फीस बढ़ा ली। करण जौहर ने कहा, एक छोटा कलाकार है जिसे बॉक्स ऑफिस पर अपना दबदबा साबित करना बाकी है। वह 20 या 30 करोड़ रुपये मांगते हैं। बिना किसी वजह के। फिर आप उन्हें एक रिपोर्ट कार्ड दिखाना चाहते हैं और कहना चाहते हैं कि हैलो, यह आपकी फिल्म की ओपनिंग थी। इससे अच्छा मैं टेक्निकल टीम को ज्यादा डॉलर देना पंसद करूंगा, जो वास्तव में फिल्म को खास बनाते हैं। करण जौहर इस बात पर भी हैरानी जताई हैं कि वह कुछ एक्टर्स को 15 करोड़ और एक वीडियो एडिटर को 55 लाख रुपये क्यों दें।