टीआरएस सांसद किसानों के मुद्दों को लेकर संसद के शीतकालीन सत्र का बहिष्कार करेंगे

नई दिल्ली : तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने केंद्र सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को घोषणा की कि उसके सांसद, संसद के मौजूदा सत्र के शेष समय दोनों सदनों की कार्यवाही का बहिष्कार करेंगे। टीआरएस सदस्यों ने सरकार के खिलाफ और किसानों के समर्थन में नारेबाजी करते हुए लोकसभा और राज्यसभा से वाकआउट किया। सभी सांसद काले रंग के कपड़े पहने हुए थे। पार्टी नेता केशव राव ने आरोप लगाया कि किसानों की मांगों के प्रति सरकार असंवेदनशील है और किसान विरोधी’ है। लोकसभा में पार्टी के नेता नमा नागेश्वर राव ने कहा कि उनकी पार्टी भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) द्वारा तेलंगाना से धान की खरीद का मुद्दा उठाती रही है। उन्होंने कहा कि यह केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि वह राज्य में धान की खरीद करे और किसानों को उनके बकाए का भुगतान करे। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के लिए एक विधेयक लाने की मांग कर रही है।