जर्मनी के दलों ने ओलाफ शोल्ज की नयी सरकार के लिए गठबंधन समझौते पर किए हस्ताक्षर

बर्लिन : जर्मनी में लंबे समय से चांसलर एंजेला मर्केल की जगह लेने वाले ओलाफ शोल्ज के नाम को मंजूरी से एक दिन पहले देश के तीन दलों ने प्रगतिशील गठबंधन बनाने को लेकर मंगलवार को एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। शोल्ज की मध्य वाम पार्टी ‘सोशल डेमोक्रेट्स’, पर्यावरण के मुद्दों को उठाने वाली पार्टी ‘ग्रीन्स’ और कारोबार समर्थक ‘फ्री डेमोक्रेट्स’ के बीच हुए समझौते को तीन पार्टियों के सदस्यों से हाल के दिनों में मजबूत समर्थन मिला। समझौते से शोल्ज के संसद में बुधवार को चुने जाने का रास्ता साफ हो गया है क्योंकि तीनों दलों के पास ठोस बहुमत है। पहली बार सरकार बनाने के लिए तीनों दलों ने समझौता किया है। 

शोल्ज निवर्तमान वित्त मंत्री एवं वाइस चांसलर हैं। गठबंधन समझौते का शीर्षक ‘‘वेंचर मोर प्रोग्रेस’’ है। तीनों दलों के नेताओं ने बर्लिन के फ्चुरियम संग्रहालय में समझौते पर हस्ताक्षर किए। नयी सरकार के लिए, खासकर ग्रीन्स पार्टी के लिए जलवायु परिवर्तन से निपटने को लेकर कदम उठाना शीर्ष प्राथमिकता है। अन्य प्राथमिकताओं में यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का आधुनिकीकरण और अधिक उदारवादी सामाजिक नीतियों की पेशकश करना शामिल है। इन सबसे ऊपर, सरकार को कोरोना वायरस संक्रमण की उच्च दर को कम करने के तत्काल कदम उठाने की जरूरत होगी।

‘फ्री डेमोक्रेट्स’ के नेता और भावी वित्त मंत्री क्रिश् चियन लिंडनेर ने कहा, ‘‘हमने कहा कि हम और अधिक प्रगति करना चाहते हैं और इस सप्ताह से हम प्रगति पर काम करना चाहते हैं। हमें कोई भ्रम नहीं है। हमें बड़ी चुनौतियों का सामना करना है।’’जर्मनी में सितंबर में हुए चुनाव से पहले कई मुद्दों पर वैचारिक मतभेद रखने वाले तीन दलों के बीच समझौता अपेक्षाकृत जल्दी और सौहार्दपूर्ण माहौल में हुआ है। जर्मनी की 16 साल से चांसलर मर्केल ने इस बार पद के लिए अपनी रूचि नहीं दिखाई। मर्केल का मध्य दक्षिणपंथी ‘यूनियन ब्लॉक’ चुनाव में हार के बाद विपक्ष की भूमिका में रहेगा।