ग्वालियर से आए मित्र

गीता जयंती के अवसर पर 

     खूब सजा कुरुक्षेत्र 

   रौनक हो गयी दोगुनी 

    बन गया सुन्दर चित्र 

   जब ग्वालियर से आए 

         मेरे दो मित्र 

ब्रह्मसरोवर का सुन्दर किनारा 

टिमटिमाये दीपक फैला उजियारा 

     दोस्तों संग परिक्रमा की 

   जानकारी यहां की दी 

 सर्वेश्वर महादेव के किये दर्शन

       खुशी से हुआ मन प्रसन्न 

       गीता जन्म स्थली पर 

      पहुँच गए हम ज्योतिसर 

     बरगद का वो पेड़ पुराना 

ऐतिहासिकता को उसकी जाना 

     मंदिरों में जा मस्तक नवाये 

       आशीर्वाद प्रभु से पाए 

     विश्वविद्यालय में चाय पी 

   अन्दर जाकर लायब्रेरी देखी 

  हरियाणवी संस्कृति देखी खास 

     पुरानी चीजे और लिबास 

    अनमोल धरोहर संजोए है 

     इन दृश्यों में मन खोए है 

       कुए की छटा न्यारी 

     पानी भरती देखी नारी 

      वैदिक नदी सरस्वती 

       मित्रों ने अराधना की

      शक्तिपीठ भद्रकाली 

  माँ की महिमा बड़ी निराली 

   यहां घटी पौराणिक घटना 

देवी सती का गिरा था टखना 

   युद्ध से पहले पांडव आये 

    आकर माँ के दर्शन पाये 

   माँ को पूजा माँ को ध्याया 

 विजयी भव का वर था पाया 

  रण को जीत पांडव हर्षाये  

    युधिष्ठिर ने दो अश्व चढ़ाए 

       हमने भी दर्शन थे पाये 

     माता से आशीष ले आये 

      हर्षवर्धन का वो टीला

     कभी समृद्ध था किला 

       हँसी खुशी मस्ती की 

       दोस्तो संग फोटो ली 

 बिरला मंदिर और गौड़िया मठ 

 बहुत सुन्दर जयराम विद्यापीठ 

    कृष्ण संग्रहालय का ज्ञान 

  द्वारकाधीश का कराए भान 

     पेनोरामा में युद्ध तांडव 

 विकराल रूप में देखे मानव 

    शंख ध्वनि और चित्कार 

  सैनिक परस्पर करते वार 

   शेख चिल्ली का मकबरा 

  संगमरमर की रेलिंग चबूतरा 

      दारा सिकोह म्युजियम 

         ये भी देख गए हम 

     जिंदल पार्क आखिरी पड़ाव 

          सब देखा चाव-चाव 

    नीतू और शिवानी प्यारे-प्यारे 

      बहुत अच्छे ये मित्र हमारे 

        यजवीर भी संग आया 

    जिम्मेदारी को खूब निभाया 

           भूल-चूक हो कोई 

           या सत्कार में कमी 

          हाथ जोड़ क्षमा मांगू 

            मैं हूँ क्षमा प्रार्थी ।।

                                   रचनाकार 

                      जसमेर सिंह,गांव बन्दराणा 

                     जिला कैथल,राज्य हरियाणा ।।