"ट्विटर के नये सीईओ पराग अग्रवाल का जीवन सफ़र"

कब, कहाँ, कैसे, किसकी किस्मत बदल जाए और कहाँ से कहाँ पहुँच जाए कुछ कह नहीं सकते। 'पराग अग्रवाल' भले ही आज एक अच्‍छी पोजीशन पर हैं, लेकिन इस पोजीशन के लिए उन्‍होंने खूब मेहनत की है। दरअसल पराग अग्रवाल के माता-पिता अजमेर के धानमंडी और खजाना गली में किराए के मकान में रहा करते थे। कुछ समय बाद पराग के पिता की नौकरी के चलते उनका परिवार मुंबई शिफ्ट हो गया था अब इनका परिवार अमेरिका में रहता है।

आजकल हर न्यूज़ पेपर और हर चैनल पर एक ख़बर और एक नाम गूँज रहा है, 'पराग अग्रवाल' जी हाँ ट्विटर जोकि एक मल्टीब्लॉगिंग सोशल मीडिया वेबसाइट है, जिसके सीटीओ रह चुके भारतीय मूल के पराग अग्रवाल अब इस वेबसाइट के सीईओ बन चुके है। पिछले 10 साल से वे इस वेबसाइट के साथ जुड़े हुए है।

ट्विटर के सीईओ बनने के बाद पराग अग्रवाल को दुनियाभर से बधाई संदेश मिल रहे हैं। विश्व के सबसे अमीर शख्स और टेस्ला के मालिक एलन मस्क ने भी पराग अग्रवाल और उनकी उपलब्धि की तारीफ की। एलन मस्क ने ट्वीट किया, 'यूएस को भारतीय प्रतिभा से बहुत लाभ मिलता है।' टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने यह ट्वीट स्ट्राइप के सीईओ पैट्रिक कॉलिसन के ट्वीट पर दी।

भारतीय-अमेरिकी पराग अग्रवाल ने सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में ट्विटर जॉइन किया था और तब उन्हें सीटीओ नियुक्त किया गया था। पराग अग्रवाल ने आईआईटी मुंबई से इंजीनियरिंग की है। इसके बाद उन्होंने कंप्यूटर साइंस में पीएचडी अमेरिका की स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी से की। 2018 में पराग ने एडम मेसिंगर ली थीं। वेबसाइट पर पराग अग्रवाल के बायो में लिखा है कि उन्होंने 2011 में एक विज्ञापन इंजीनियर के रूप में ट्विटर ज्वाइन किया था। उनकी देखरेख में ट्विटर के विज्ञापन सिस्टम का विस्तार हुआ है। ट्विटर जॉइन करने से पहले पराग अग्रवाल ने माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च और याहू रिसर्च में कई पोजीशन पर काम किया है।

ट्विटर के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर के तौर पर पराग अग्रवाल के नाम की घोषणा के बाद से हर कोई उनके बारे में सर्च कर रहा है। पराग की पर्सनल लाइफ हो या प्रोफेशनल, उनके बारे में लोग गूगल पर तरह-तरह के सवाल सर्च कर रहे हैं। इनमें से सबसे कॉमन सवाल उनकी सैलरी को लेकर पूछा गया दुनियाभर में फिर एक भारतीय के नाम का डंका बज रहा है, विश्व की टॉप कंपनियों में से एक ट्विटर की कमान अब पराग अग्रवाल के हाथों में सौंपी गई है। ट्विटर के सह-संस्थापक जैक डॉर्सी के इस्तीफे के बाद अब भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक पराग अग्रवाल को कंपनी का नया सीईओ नियुक्त किया गया है। इस बड़ी उपलब्धि पर भारत से पराग को ढेर सारी शुभकामनाएं मिल रही हैं, पराग अग्रवाल अब उन भारतीय सीईओ की लिस्ट में शामिल हो गए हैं, जिनके बाथ विश्व की प्रमुख कंपनियों की कमान है।

सारे लोग सीईओ के तौर पर उनकी मंथली और सालाना सैलरी के बारे में जानना चाहते हैं। ट्विटर के चुने गए नए बॉस यानी सीईओ पराग अग्रवाल को कंपनी की फाइलिंग के अनुसार 1 मिलियन डॉलर सालाना वेतन मिलेगा। भारतीय मुद्रा में यह राशि लगभग 7,50,54,500 रुपए होती है।

इसके अलावा बोनस के साथ-साथ प्रतिबंधित स्टॉक यूनिट और 12.5 मिलियन डॉलर की कीमत के प्रदर्शन-आधारित स्टॉक यूनिट भी दिए जाएंगे। 

पराग अग्रवाल ने आईआईटी-बॉम्बे से स्नातक किया और फिर आगे की पढ़ाई और नौकरी के लिए अमेरिका चले गए। उनकी सैलरी में हर तीन महीने वृद्धि भी होगी जो प्रतिबंधित स्टॉक इकाइयों के मूल्य प्रदर्शन-आधारित निर्धारित होंगी। मालूम हो कि पराग अग्रवाल को 29 नवंबर को ट्विटर के सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया था। अब वह माइक्रोसॉफ्ट के सत्य नडेला, अल्फाबेट के सुंदर पिचाई, आईबीएम के अरविंद कृष्णा और एडोब के शांतनु नारायण जैसे वैश्विक आईटी कंपनी के सीईओ की लिस्ट में शामिल हो गए है। ऐसे जीनियस दिमाग के धनी पर गर्व है पूरे देश को।

भावना ठाकर 'भावु' (बेंगुलूरु, कर्नाटक)