चंडीगढ़ के आकाशदीप सिंह को हराकर चेन्नई के साबरी को पहला डब्ल्यूबीसी भारत मुक्केबाजी खिताब

चेन्नई के साबरी जे ने चंडीगढ़ के आकाशदीप सिंह को आठ दौर के मुकाबले में पराजित करके विश्व मुक्केबाजी परिषद (डब्ल्यूबीसी) भारत का पहला वेल्टरवेट खिताब जीता। साबरी ने यहां गच्चिबावली स्टेडियम में सोमवार की रात को 76-76, 79-73 और 79-73 से जीत दर्ज की। डब्ल्यूबीसी एशिया रजत लाइटवेट खिताब के मुकाबले में कार्तिक सतीश कुमार ने आठ दौर में इंडोनिशया के हीरो टिटो को सर्वसम्मत फैसले से 80-72, 79-73 और 79-73 से हराया। साबरी पहला भारतीय खिताब जीत चुके हैं और उन्हें अब भारत के अन्य रैंकिंग वाले मुक्केबाजों के खिलाफ नियमित अंतराल में इसका बचाव करना होगा। इस 24 वर्षीय मुक्केबाज ने पिछले मुकाबलों में चार में जीत दर्ज की थी जबकि एक मुकाबले में उन्हें हार झेलनी पड़ी थी। उन्होंने पिछले साल जनवरी में पेशेवर मुक्केबाजी में पदार्पण किया था। आकाशदीप पिछले तीन वर्षों में आठ जीत और एक हार के रिकार्ड के साथ इस मुकाबले में उतरे थे।