लारा दत्ता का खुलासा : 4 साल की बेटी के मुँह से तलाक शब्द सुन एक्ट्रेस को आने वाला था हार्ट अटैक

बॉलीवुड एक्ट्रेस लारा दत्ता इन दिनों अपनी सीसीज ‘हिकअप्स एंड हुकअप्स’ को लेकर सुर्खियों में हैं। इस सीरीज में लारा ने लंबे समय बाद एक बोल्ड किरदार निभाया है। वैसे बेटी के जन्म के बाद एक्ट्रेस ने अपने एक्टिंग करियर को थोड़ा ब्रेक दे दिया था, लेकिन अब एक्ट्रेस फुल ऑन तरीके से एक्टिव हो गई हैं और बैक टू बैक सीरीज और फिल्में कर रही हैं। हाल ही में हिक्प्स एंड हुकअप्स के प्रमोशन के दौरान लारा दत्ता ने बेटी से जुड़ी एक ऐसी बात का खुलासा किया जिसे सुनकर उन्हें हार्ट अटैक आने वाला था। बेटी की बात सुनकर लारा दत्ता अपने पति महेश भूपति पर भी भड़क गई थीं। हाल ही में दिए इंटरव्यू में लारा ने बताया कि उनकी बेटी सायरा जब 4 साल की थी तभी से वो वेब शो ‘फ्रेंड्स’ को बहुत पसंद करती थी। उस सीरीज को देखने के दौरान सायरा को इतनी कम उम्र में ही तलाक के बारे में पता चला गया था और जब एक्ट्रेस को ये बात पता चली तो वो गुस्से में भड़क गईं। हैरान करने वाली बात ये थी कि बेटी को तलाक के बारे में महेश भूपति ने ही बताया था। इंटरव्यू में लारा दत्ता ने बताया, महेश का सबसे पसंदीदा शो है ‘फ्रेंड्स’। मेरी चार साल की बेटी भी वो शो देखती थी। तो एक दिन सायरा कुछ गेम खेल रही थी और खेलते हुए वो मेरे पास आई और बोली ‘ओह मैं यहां रह रही हूं... वो है आपका घर, मैं तलाकशुदा हूं। उसकी बात सुनकर मुझे लगभग हार्ट अटैक आ गया था। 

मैंने तुरंत उससे पूछा तुम क्या कह रही हो? तुमसे किसने कहा ये? तलाक क्या होता है? उसने जवाब दिया ‘जब दो लोगों की शादी ठीक नहीं चलती और वो साथ आगे नहीं चलते और अलग-अलग रहना शुरू कर देते हैं इसका मतलब होता है कि उनका तलाक हो गया। जब उसने मुझे ये सब कहा तब वो पांच साल की थी। उसकी बातें सुनकर मैं हैरान रह गई मैंने उससे पूछा तुम्हें ये किसने बताया? उसने कहा ‘पापा ने’। मैंने तुरंत महेश को कॉल किया और चिल्लाई कि आपने इसे क्यों बताया है कि तलाक क्या होता है? महेश हंसे और उन्होंने जवाब दिया कि ‘हम ‘फ्रैंड्स’ देख रहे थे और वो पूछ रही थी कि रोज की शादी तीन बार क्यों हुई तो मैंने उसे बताया।श् लेकिन महेश का जवाब सुनने के बाद भी लारा दत्ता ने मेहश पर गुस्सा किया था और इस बात पर नाराजगी जताई थी कि उन्होंने अभी उसे तलाक के बारे में क्यों बताया। एक्ट्रेस ने कहा क्या हम इस तरह के पैरेंट्स हैं?