दुष्कर्मी दो सगे भाइयों को मिली 20 साल की जेल

बस्ती। फास्ट ट्रैक कोर्ट के न्यायाधीश अंकिता दूबे की अदालत ने बहला फुसलाकर कर किशोरी को भगाने व दुष्कर्म करने के एक मामले में दो सगे भाइयों को 20 वर्ष सश्रम कारावास व 53 हजार रुपये अर्थदण्ड की सजा सुनाई है। अर्थदण्ड न अदा करने पर एक वर्ष की अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। शासकीय अधिवक्ता फौजदारी प्रदीप कुमार ओझा ने अदालत को बताया कि कोतवाली थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी पीड़िता की मां ने कोतवाली थाने में तहरीर देकर कहा कि 8 अक्टूबर 2019 को वह व उसके घर वाले गांव में दुर्गा पूजा समारोह में शामिल होने गये थे। उसी दौरान नगर थाना क्षेत्र के कुसरौत निवासी मिथलेश व उसका सगा भाई कमलेश उसकी पुत्री को बहला फुसला कर लुधियाना भगा ले गया। इन लोगों ने वहां पर पुत्री के साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ बहला फुसलाकर भगाने व दुष्कर्म के आरोप में आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल किया था। न्यायाधीश ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद साक्ष्य के आधार पर मिथिलेश व कमलेश को बहला फुसलाकर भगाने व दुष्कर्म के मामले में दोषी मानते हुए 20 वर्ष सश्रम कारावास व अर्थदण्ड की सजा दिया।