सर्दियों में मूली खाने के बड़े फायदे, दिल के लिए फायदेमंद साथ सर्दी-खांसी से भी होगा बचाव

सर्दियों में लोग मूली की सब्जी और सलाद बनाकर खाना खूब पसंद करते हैं। मूली ना सिर्फ स्वादिष्ट होती है बल्कि कई पोष्टिक तत्वों से भी भरपूर होती है। विटामिन सी से भरपूर मूली पाचन क्रिया को स्वस्थ रखने से लेकर इम्यूनिटी बढ़ाने में अहम भूमिका निभाती है। मूली ना सिर्फ पाचन तंत्र के लिए अच्छी है बल्कि यह एसिडिटी, मोटापा, गैस्ट्रिक समस्याओं और मतली को ठीक करने में भी मदद करती है। चलिए आज हम आपको बताते हैं कि मूली खाने से सेहत को क्या-क्या फायदे होते हैं और सर्दियों में इसका सेवन कैसे किया जाए...

मूली की तासीर

मूली भले ही ठंडी लगती है लेकिन इसकी तासीर गर्म होती है। वहीं, सर्दियों में ही इसकी पैदावर सबसे अधिक होती है। यही वजह है कि सर्दियों में इसका सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है। हैरानी की बात यह है कि शाम के समय इसकी तासीर ठंडी हो जाती है इसलिए रात को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

चलिए अब आपको बताते हैं कि मूली खाने से सेहत को क्या-क्या फायदे मिलते हैं...

इम्युनिटी बढ़ाए

विटामिन-सी से भरपूर होने के कारण मूली का सेवन इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है। इससे आप सर्दी-खांसी, जुकाम, कफ से बचे रहते हैं। इससे शरीर में सूजन व जलन से भी आराम मिलता है।

ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाए

मूली लाल रक्त कोशिकाओं को सर्दियों में होने वाले नुकसान से बचाती है। साथ ही इसे खाने से रक्त में ऑक्सीजन की आपूर्ति भी बढ़ जाती है।

दिल को रखे स्वस्थ

इसमें एंथोसायनिन नामक तत्व होता है, जो दिल के रोगों का खतरा कम करता है। इसके अलावा वे विटामिन सी, फोलिक एसिड, और फ्लेवोनोइड होते हैं जो दिल के लिए फायदेमंद है।

कैंसर से बचाव

मूली में ग्लूकोसाइनोलेट्स होते हैं, जो क्रूसिफेरस सब्जियों में पाए जाने वाले सल्फर युक्त यौगिक होते हैं। ये यौगिक उन कोशिकाओं को खत्म कर सकते हैं, जिनसे भविष्य में कैंसर का खतरा रहता है।

फंगस से लड़ने में मददगार

फंगस की समस्या को दूर करने में भी मूली बहुत फायदेमंद है। इसमें एक एंटिफंगल यौगिक त्े।थ्च्2 होता है, जो कैंडिडा बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है।

डायबिटीज से बचाव

प्रीडायबिटीज या ब्लड शुगर के मरीज है तो मूली का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। यह ग्लूकोज तेज और रक्त शर्करा में सुधार करती हैं। इससे टाइप 2 मधुमेह का खतरा भी काफी कम होता है।

बॉडी को करे हाइड्रेट

शरीर में पानी की कमी स्किन प्रॉब्लम्स, सिरदर्द, बार-बार बुखार जैसी समस्याओं का कारण बन सकती है। मगर, प्रति 100 ग्राम में 93.5 ग्राम! यह लगभग एक खीरे के बराबर है जो कि 95.2 ग्राम प्रति 100 ग्राम है।

ब्लड प्रेशर कंट्रोल

पोटेशियम से भरपूर होने के कारण इसका सेवन रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। मूली कोलेजन के निर्माण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।