अब मतदाता सूची के आधार पर होगा कोविड टीकाकरण

- आशा, एएनएम व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने शुरू किया सर्वे 

बांदा। जनपद वासियों को कोरोना से पूरी तरह सुरक्षित बनाने के लिए टीकाकरण पर पूरा जो दिया जा रहा है। इसी उद्देश्य से समय-समय शासन व स्वास्थ्य समिति की ओर से नई-नई रणनीति बनाई जा रही है। अब स्वास्थ्य विभाग मतदाता सूची के आधार पर टीकारण से वंचित लोगों को चिन्हित करने में जुटा है। जनपद में 12.91 लाख लोगों का टीकाकरण होना है और अब तक 8.64 लाख को पहला टीका लग चुका है। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. वीके तिवारी ने बताया कि कोरोना वायरस के खिलाफ छिड़ी जंग में टीकाकरण सबसे अहम हथियार है। निर्वाचन विभाग की मतदाता सूची के आधार पर घर-घर सर्वे शुरू किया गया है। सभी चिकित्सा अधीक्षकों को मतदाता सूची भेजी जा चुकी है। सर्वे का कार्य आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को सौंपा गया है। इसकी मॉनिटरिंग संबंधित बीसीपीएम (ब्लाक कम्युनिटी प्रोसेस मैनेजर) एवं आशा फैसिलिटेटर को करने की जिम्मेदारी दी गई है। 

सीएमओ ने बताया कि सर्वे के बाद प्रत्येक सर्वेयर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को मतदाता सूची उपलब्ध कराएंगे। मतदाता सूची पर निशान लगाकर पहली खुराक लेने पर एक, दोनों खुराक लेने पर दो का निशान लगाना है। साथ ही दोनों में से कोई खुराक नहीं लेने पर खुराक लेने के लिए तैयार होने पर ओके, घर पर किसी भी कारण से अनुपस्थित होने पर क्रॉस ए, गांव से बाहर शिफ्ट होने की स्थिति में क्रॉस एस, उक्त व्यक्ति की मृत्यु होने की स्थिति में क्रास डी और किसी भी कारण से टीका लेने से इनकार की स्थिति में क्रॉस आर अंकित करना है।