आंगनवाड़ी केन्द्रों को सुविधा सम्पन्न हेतु प्री-स्कूल-किट उपलब्ध करायी गयी

आंगनवाड़ी केन्द्रों को गोद लेने वाले विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों को प्रमाण पत्र वितरित किया गया-

ग्राम प्रधान ग्राम में होने वाले छोटे-मोटे झगड़ों को शान्ति समिति के माध्यम से निपटायें- श्रीमती आनंदीबेन पटेल

आजमगढ़ : मा0राज्यपाल उ0प्र0, श्रीमती आनंदीबेन पटेल एवं कुलाधिपति की प्रेरणा से वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर व आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय अयोध्या एवं जिला प्रशासन आजमगढ़ के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित राजकीय मेडिकल कालेज चक्रपानपुर में आंगनवाड़ी केन्द्रों को सुविधा सम्पन्न कराने हेतु आवश्यक वस्तुओं के वितरण समारोह का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलन व सरस्वती वन्दना के साथ किया गया। श्री अग्रसेन कन्या इण्टर कालेज आजमगढ़ की छात्राओं द्वारा स्वागत गीत की प्रस्तुति की गयी, जो काफी सराहनीय रहा।

मा0 राज्यपाल महोदया द्वारा सांकेतिक रूप में 10 आंगनवाड़ी केन्द्रों को सुविधा सम्पन्न हेतु प्री-स्कूल-किट उपलब्ध करायी गयी, जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकत्री जया पटेल, सरोज देवी, सरोज पाल, गीता पाण्डेय, फुलवासी देवी, शशिपाल, कल्याणी सिंह, अनीता देवी, सुमन देवी, साधना राय शामिल हैं। पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर के सौजन्य से 125 आंगनवाड़ी केन्द्रों एवं आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय अयोध्या के सौजन्य से 10 आंगनवाड़ी केन्द्रों को प्री-स्कूल-किट उपलब्ध कराया गया। प्रति प्री-स्कूल-किट की लागत 15000 रू0 है, इस प्रकार कुल 135 प्री-स्कूल-किट लागत 20,25,000 रू0 है। इस प्री-स्कूल-किट से आंगनवाड़ी केन्द्रों के बच्चों में शिक्षा के प्रति जागरूकता बढ़ेगी। 

मा0राज्यपाल महोदया द्वारा 135 आंगनवाड़ी केन्द्रों को गोद लेने वालों में से 10 विद्यालयों को प्रतिकात्मक रूप से प्रमाण पत्र वितरित किया गया, जिसमें 01 पूर्वांचल विश्वविद्यालय एवं उससे सम्बद्ध 06 महाविद्यालयों एवं 01 आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय एवं उससे सम्बद्ध 02 महाविद्यालयों को प्रमाण पत्र दिया गया, शेष महाविद्यालयों को प्रमाण पत्र उपलब्ध करा दिया गया।

इसी के साथ ही समाज कल्याण विभाग के सौजन्य से मा0राज्यपाल महोदया द्वारा वृद्धा आश्रम आजमगढ़ के संवासियों हेतु वाशिंग मशीन, कूलर, फ्रीज, आरओ, स्मार्ट टीवी व गीजर उपलब्ध करायी गयी, जिसकी लागत रू0 2,35,000 है। 

इस अवसर पर मा0 राज्यपाल महोदया ने अपने सम्बोधन में कहा कि नई शिक्षा नीति कई सालों बाद आयी है। वर्ष 2030 तक 50 प्रतिशत युवाओं को स्कूलों में प्रवेश दिलाना है, लेकिन अभी भी 22 प्रतिशत ही युवाओं को स्कूलों में प्रवेश मिला है, इसके लिए आंगनवाड़ी केन्द्रों, प्राथमिक विद्यालयों, स्कूलों में छात्रों को प्रवेश दिलाया जाय। 

उन्होने कहा कि कुपोषित बच्चों के लिए जो पैसा मिलता है, आंगनवाड़ी उसका सही उपयोग बतायें और मीनू बनाकर उनको खाने के लिए बतायें तो कुपोषित बच्चे सुपोषित हो जायेंगे। उन्होने कहा कि हर 53 सेकेण्ड में 80 लाख बच्चे मर जा रह हैं। आंगनवाड़ी घर-घर जाकर गर्भवती महिलाओं को जागरूक करें कि समय से अस्पताल जाकर जॉच कराते रहे।

उन्होने ग्राम प्रधानों से कहा कि अपने-अपने ग्रामों में शान्ति समिति स्थापित करायें, इसके माध्यम से ग्राम में होने वाले छोटे-मोटे झगड़ों को शान्ति समिति के माध्यम से निपटायें, अपने-अपने ग्रामों को टीबी मुक्त, कुपोषण मुक्त करायें तथा ग्रामों में बाल विवाह, दहेज प्रथा को समाप्त करायें। अधिकारी वर्ग इसके लिए जन आन्दोलन चलायें। दहेज प्रथा व बाल विवाह से संबंधित सूचना प्राप्त होते ही कानून का अनुपालन करायें। बेटियों को बहु के रूप में लाते हैं, उसको दहेज के लिए मार देते हैं, ऐसा मत करें। उन्होने आंगनवाड़ियों को संकल्प दिलाया कि वे दहेज की मांग नही करेंगी और दहेज नही देंगी, तभी समाज का विकास होगा।

उन्होने बताया कि गुजरात में बच्चों को प्रवेश दिलाने हेतु प्रवेश उत्सव का आयोजन किया जाता है, इसके लिए नर्मदा बांड तैयार कराया गया है, इससे 99 प्रतिशत बच्चे स्कूलों में पढ़े रहे हैं और किसी ग्राम में 03 वर्ष तक कोई एफआईआर दर्ज नही होती है तो 1,00,000 रू0 विकास कार्य के लिए दिया जाता है और ग्राम का नाम तीर्थ ग्राम रखा जाता है। छात्राओं में अच्छे विचारों को जागृत करें, तभी छात्र शिक्षित होकर आत्मनिर्भर बनेंगी।

उद्घोषक अर्चना सतीश द्वारा मा0 राज्यपाल महोदया के जीवन वृत्त को विस्तार से बताया गया। जिलाधिकारी राजेश कुमार द्वारा स्मृति चिन्ह के रूप में मा0 राज्यपाल महोदया को औषधी पौधा प्रदान किया गया।

मा0यशवन्त सिंह सदस्य विधान परिषद, कुलपति प्रो0 निर्मला एस0मौर्य पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर, डॉ0 बीजेन्द्र सिंह कुलपति आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय अयोध्या द्वारा अपने-अपने विचार व्यक्त किया गया। अर्चना सतीश द्वारा मंच का संचालन किया गया। आयुक्त आजमगढ़ मण्डल, आजमगढ़ विजय विश्वास पंत द्वारा सभी के प्रति आभार व्यक्त किया गया।

इस अवसर पर सदस्य विधान परिषद यशवंत सिंह, कुलपति वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय जौनपुर प्रो0 निर्मला एस0मौर्य, कुलपति आचार्य नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय अयोध्या डॉ0 विजेन्द्र सिंह, मण्डलायुक्त विजय विश्वास पंत, डीआईजी अखिलेश कुमार, जिलाधिकारी राजेश कुमार, पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य, मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, अपर जिलाधिकारी प्रशासन, कृषि महाविद्यालय कोटवा के डीन प्रो0डीके सिंह, कृषि महाविद्यालय कोटवा के असिस्टेंट प्रो0 डॉ0एके सिंह उपस्थित रहे।