---- तीखा तीर ----

रेल   कमाई   देत  है 

य़ाको  रखो   संभाल 

दुनियां नं . 1 एक  है 

देश का  ढ़ोती  माल 

रेल  हमारी  शान  है 

धन  से  माला  माल 

----- वीरेन्द्र  तोमर