डीएम डॉ. दिनेश चन्द्र ने किया जरवल रोड चीनी मिल के पेराई सत्र का शुभारम्भ

बहराइच । वैदिक मंत्रोचार के बीच विधि विधान के साथ जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने इण्डियन पोटाश लिमिटेड की शुगर इकाई जरवल रोड चीनी मिल के केन कैरियर में गन्ना डालकर तथा प्रोडक्शन यूनिट के स्विच का आन कर पेराई सत्र 2021-22 का शुभारम्भ किया। प्रोडक्शन यूनिट के आन होते ही एक लम्बे सायरन की आवाज़ के साथ क्षेत्र में इस बात उदघोष हो गया कि मिल चालू हो गयी है। इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने कहा कि प्रदेश के सरकार के नेतृत्व प्रदेश में चीनी मिलें विकास के पथपर अग्रसर है। डीएम डॉ. चन्द्र ने मिल अधिकारियों को निर्देश दिया कि गन्ना कृषकों के हित को दृष्टिगत रखते हुए पूरी क्षमता के साथ मिल का संचालन करें।

सर्वप्रथम जिलाधिकारी ने बैल पूजन कर मिल के गेट आये प्रथम किसान को अंग वस्त्र भेंट कर सम्मानित किया तथा अजीत प्रताप सिंह पुत्र नरेंद्र अजीत सिंह की गन्ने की गाड़ी के ताल कर बैलगाड़ी का कांटा चालू किया। तत्पश्चात चार्ली के कांटे पर पहुंचकर किसान सिद्धेश्वर दत्त शुक्ला पुत्र इकबाल बहादुर शुक्ला को अंग वस्त्र भेंट कर सम्मानित किया तथा उनकी गाड़ी कॉल कर ट्राली कांटा शुरू कराया तथा डोंगा पूजन के पश्चात डोंगे में गन्ना डालकर मिल का बटन दबाकर मिल के पेराई सत्र 2021-22 का शुभारंभ किया।

मिल इकाई प्रमुख के.जे. शर्मा द्वारा बताया कि वर्तमान पेराई सत्र में 30 लाख कुण्टल गन्ने की खरीद का लक्ष्य रखा गया है। मिल गेट पर दो गन्ना समितियों जरवल रोड व भभूआ द्वारा गन्ना क्रय किया जाता है। पेराई सत्र के शुभारम्भ अवसर पर उप जिलाधिकारी कैसरगंज महेश कुमार कैथल, जिला गन्ना अधिकारी शैलेश कुमार मौर्य, सहकारी गन्ना विकास समिति के चेयरमैन चन्द्रेश प्रताप सिंह, विभागाध्यक्ष गन्ना ठाट सिंह राणा, मुख्य अभियन्ता गोपाल त्यागी, विभागाध्यक्ष लेखा ए.के. चतुर्वेदी विभागाध्यक्ष प्रोडक्शन अरविंद देशवाल सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रीय गणमान्य व संभ्रान्तजन तथा कृषक मौजूद रहे।