भज ले हरी का नाम बंदे

भज ले हरी का नाम बंदे।।2।।

भज ले हरी का नाम बंदे।।2।।


पुण्य कमा , कुछ धर्म ही कर ले

मानव , पशु , पंछी की सेवा कर

जीवन तेरा सार्थक कर ले।।


भज ले हरी का नाम बंदे।।2।।


समय का मोल तुम अब जानो

भक्ति रस को भी  पहचानो

पुण्य कर्म संग शक्ति मिलेगी

मिली जीवन को सार्थक कर मानो।।


भज ले हरी का नाम बंदे।।2।।


समय का मोल तुम अब जानो

भक्ति रस को भी  पहचानो

पुण्य कर्म संग शक्ति मिलेगी

मिली जीवन को सार्थक कर मानो।।


भज ले हरी का नाम बंदे।।2।।


वीना आडवानी तन्वी

नागपुर , महाराष्ट्र