------ तीखा तीर --------

समाधान अब  कुछ  ढूंडो ठोस 

तब   आयेगा  पाक   को  होश 

कब तक  देंगे सैनिक  कुर्बानी 

याद दिलादो दुशमन को नानी 

------ वीरेन्द्र  तोमर