भोजन के तुरंत बाद पानी पीना हानिकारक, हो सकती हैं ये समस्याएं

कुछ लोगों की आदत होती है कि वो खाना खाने के तुरंत बाद ही पानी पी लेते हैं। वहीं, कुछ लोग भोजन के साथ-साथ ही पानी पीते रहते हैं लेकिन आपकी यह एक आदत सेहत पर भारी पड़ सकती है। आयुर्वेद की मानें तो भोजन के कम से कम 30 मिनट बाद या पहले ही 1-2 गिलास पानी पीना चाहिए। भोजन के तुरंत बाद पानी पीना आपको पाचन से जुड़ी कई समस्याएं दे सकता है।

भोजन के तुरंत बाद क्यों नहीं पीना चाहिए पानी?

दरअसल, इससे पाचन तंत्र में खाना और पानी एक साथ घुल जाते हैं, जिससे भोजन ठीक तरह से पच नहीं पाता। वहीं, लंबे समय तक नियमित ऐसा करने से कई तरह की हैल्थ प्रॉब्लम्स हो सकती हैं।

पाचन क्रिया में आती है बाधा

भोजन के तुरंत बाद पानी पीने से पाचन तंत्र में मौजूद रस प्रभावित होते हैं। ये रस भोजन को पचाने में अहम भूमिका निभाते हैं। मगर, जब वो पानी के साथ घुल जाते हैं तो खाना पचने में अधिक समय लगता है। कई बार तो खाना ठीक से पच भी नहीं पाता।

इंसुलिन का बढ़ना

भोजन के बाद तुंरत पानी पीने की आदत इंसुलिन हार्मोन पर असर डालती है। इससे इंसुलिन का स्तर बढ़ जाता है, जिससे डायबिटीज का खतरा रहता है।

एसिड रिफ्लक्स

पेट में एसिड की मात्रा अधिक होने पर वो फूड पाइप के जरिए गले तक पहुंच जाता है। इसके कारम खट्टी डकारें आने की समस्या हो सकती है, जिसे एसिड रिफ्लक्स कहते हैं। जंकफूड, धूम्रपान के अलावा यह आदत भी खट्टी डकारों का कारण बन सकती है।

हार्टबर्न की समस्या

भोजन के साथ और पानी का सेवन साथ में करने से पाचक रस और एल्जाइम्स की एकाग्रता कम हो जाती है, इस कारण शरीर में अम्लीय स्तर बढ़ जाता है और हमारे सीने में जलन होने लगती है, जिसे हार्टबर्न भी कहा जाता है।

पोषक तत्वों की कमी

पाचन तंत्र सिर्फ भोजन को पचाता ही नहीं है बल्कि पोषक तत्वों को अवशोषित भी करता है। ऐसे में जब भोजन ठीक सतरह से पच नहीं पाता तो पोषक तत्व ठीक तरह से अवशोषित नहीं हो पाते।

मोटापे का कारण

भोजन का सीधा संबंध पाचन तंत्र से है। जब खाना पच नहीं पाता तो अपाच्य खाने से बना ग्लूकोज फैट का रूप ले लेता है। इससे धीरे-धीरे मोटापा बढ़ने लगता है।