भरतपुर : हाथापाई के बाद पिता-पुत्र की गोली मारकर की हत्या

राजस्थान के भरतपुर जिले में रविवार को हाथापाई के बाद 46 वर्षीय व्यक्ति और उसके जवान बेटे की कथित तौर पर आरोपी ने गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने कहा कि उन पर गोलियां चलाने वाले आरोपी को भी गोली लगी है और उसका इलाज चल रहा है। इस मामले में लापरवाही के लिए दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

पुलिस ने बताया कि शनिवार रात सुरेंद्र सिंह और लखन शर्मा के बीच मौखिक द्वंद्व छिड़ गया, जिसके बाद हाथापाई में दोनों ने एक-दूसरे को थप्पड़ मारे। इसके बाद रात में गश्त कर रहे कोतवाली थाने के सहायक पुलिस उपनिरीक्षक विजय पाल और हेड कांस्टेबल मानसिंह सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे और दोनों को समझा कर अलग कर दिया।

इसके बाद रविवार की सुबह दोनों पक्षों के सदस्य मामले को सुलझाने के लिए सुभाष नगर स्थित सुरेंद्र सिंह के आवास पर जमा हुए। पुलिस ने बताया कि बैठक के दौरान लखन शर्मा के भाई दिलावर ने सुरेंद्र सिंह और उनके बेटे सचिन (17) पर गोलियां चला दीं।

फिर दिलावर ने खुद पुलिस को बुलाया और कहा कि उस पर सुरेंद्र ने गोली चलाई है। लेकिन जब पुलिस घटना स्थल पर पहुंची तो पाया कि सुरेंद्र और सचिन पर दिलावर ने गोली चलाई। दिलावर के भी पैर में गोली लगी थी। पुलिस ने तीनों को जिला अस्पताल पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने सुरेंद्र और सचिन को मृत घोषित कर दिया।

पिता और बेटे की मौत होने पर परिजनों ने अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया और सड़क पर जाम लगाया। वहीं भरतपुर के पुलिस अधीक्षक देवेंद्र कुमार ने तुरंत कार्रवाई करते हुए सहायक पुलिस उपनिरीक्षक और हेड कांस्टेबल को लापरवाही बरतने के आरोप में निलंबित कर दिया। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं और दिलावर का पुलिस हिरासत में उपचार जारी है।