किसान नेता राकेश टिकैत ने महापंचायत में कहा- कानून की लड़ाई तो जनता के लिए थी, किसान के लिए तो एमएसपी है

लखनऊ। राजधानी लखनऊ स्थित ईको गार्डन मैदान में सोमवार को किसानों की उमड़ी भीड़ को संबोधित करते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, ‘कानून की लड़ाई तो जनता के लिए थी, किसान के लिए तो एमएसपी है। लखनऊ में आयोजित महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि गन्ना किसानों का भुगतान भी जल्द से जल्द किया जाए। उन्होंने अपनी चाहत जताई कि केंद्र सरकार जब तक किसानों से बात नहीं करेगी तब तक इस मसले का अंत नहीं होगा, वहीं, लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी को लेकर भी बात करेंगे, हर मुद्दे पर भी बात करने को तैयार हैं. किसान नेता राकेश टिकैत ने अपनी मांगों की सूची बढ़ा ली है। उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए लोगों को अब तक मुआवजा नहीं मिला है। धीरे-धीरे भीड़ कम होती जा रही है. लोग अपने घरों को रवाना हो रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन में मारे गए लोगों के परिजनों को सरकार आर्थिक मदद मिलनी चाहिए। उनके परिवार के लोग बेसहारा हो गए हैं. किसानों को एमएसपी की जरूरत है, लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी को लेकर भी बात करेंगे. हर मुद्दे पर भी बात करने को तैयार हैं। किसान नेता राकेश टिकैत ने अपनी मांगों की सूची बढ़ा ली है. उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा में मारे गए लोगों को अब तक मुआवजानहीं मिला है। धीरे-धीरे भीड़ कम होती जा रही है. लोग अपने घरों को रवाना हो रहे हैं।