प्रकृति पर्यावरण संरक्षण एवं स्वस्थ जीवन पर चित्रांश महासभा ने राष्ट्रीय संगोष्ठी किया- डॉ0 सुचिता श्रीवास्तव पूर्व प्राचार्य

आजमगढ़। 25 नवंबर 2021! पूर्वांचल की धरती आजमगढ़ की जानी-मानी सामाजिक और सांस्कृतिक इकाई अखिल भारतीय चित्रांश महासभा के तत्वावधान में पूर्वांचल अध्यक्ष भानु प्रताप श्रीवास्तव के जन्म उत्सव के अवसर पर प्रकृति पर्यावरण संरक्षण एवं स्वस्थ जीवन पर आधारित राष्ट्रीय संगोष्ठी की गई,आपको बताते चलें आपकी धर्मपत्नी स्वर्गीय रावित्री देवी "कृष्णा" स्व.कोरोना काल में भगवान को प्यारी हो गई,उन्हीं की स्मृति में अपने घर की छत पर विशाल रूप से वर्षों से सुबह-सुबह प्रतिदिन पौधों के बीच स्वर्गीय कृष्णा की स्मृति में पौधा रोपण,पौधों की देखभाल आदि हमेशा करते रहते हैं,बंदरों के प्रभाव से बचने के लिए लाखों रुपया खर्च करके कृष्णा वाटिका एक स्मृति वनवाटिका हो गई है,जिसे समाज को इस प्रयास से सीख लेनी चाहिए,प्रमुख वक्ता दीवानी बार के पूर्वअध्यक्ष आद्या प्रसाद सिंह,पूर्वप्राचार्य डॉ निरंकार प्रसाद श्रीवास्तव,इंटरनेशनल हेल्थ ट्रेनर ओंकार गुप्ता,पूर्व प्राचार्य डॉ सुचिता श्रीवास्तव,तमसा योगी सुनील राय,दीवानी बार के पूर्व अध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव,तमसा अभियान के वरिष्ठ समाजसेवी प्रवीण कुमार सिंह, भारत रक्षा दल के प्रांतीय अध्यक्षऔर प्रमुख समाजसेवी हरकेश विक्रम श्रीवास्तव,सेल टैक्स बार के अध्यक्ष अजय कुमार श्रीवास्तव,एसोसिएट प्रोफेसर रामप्यारे यादव, गुरुवर कौशल किशोर जी महाराज,अशोक कुमार अग्रवाल प्रांतीय अध्यक्ष भारत विकास परिषद, संस्थान अध्यक्ष सुभाष चंद्र श्रीवास्तव,महामंत्री जगदंबा प्रसाद श्रीवास्तव और कला,संस्कृति एवं प्रकृति पर्यावरण संरक्षक अरविंद चित्रांश ने कोरोना काल के आपदा से प्रभावित,आम जन समुदाय और अपनों के सुखी जीवन के लिए जन जागरूकता के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण आयोजन किया। 

मुख्य वक्ता दीवानी बार के पूर्व अध्यक्ष आद्या प्रसाद सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य के प्रति जनजागरूकता आयोजन करके सर्व समाज को जोड़ते हुए चित्रांश महासभा ने एक अद्भुत पहल की है,देश के हर पहलू पर हमें ही पहल करनी पड़ेगी,अब दुनिया में दूसरा डॉ राजेंद्र प्रसाद और सुभाष चंद्र बोस पैदा नहीं होगें, हमें ही एकजुट होकर उनकी विचारधारा को कायम रखनी होगी। 

प्रकृति पर्यावरण संरक्षण एवं स्वस्थ जीवन पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में जनपद के प्रमुख गणमान्य एडवोकेट विद्याधर श्रीवास्तव,पदम नाथ श्रीवास्तव,फिजियोथेरेपिस्ट डॉ अशोक कुमार श्रीवास्तव,होम्योपैथ के डॉक्टर अशोक कुमार श्रीवास्तव और दुर्गेश कुमार श्रीवास्तव,वरिष्ठ एडवोकेट एवं उपाध्यक्ष दिनेश चंद श्रीवास्तव,एसडीएम सदर के नाजिर चंदन श्रीवास्तव,पराग डेयरी के अधिकारी के.एम. श्रीवास्तव,प्रसिद्ध गायक किशन श्रीवास्तव,डॉ.आर पी श्रीवास्तव,राजेश श्रीवास्तव,राजेश टेंट हाउस,उपाध्यक्ष अजीत वर्मा, आर्य समाज से डॉ पीयूष कुमार,अशोक कुमार श्रीवास्तव अध्यक्ष स्वास्थ्य विभाग,कृष्णमुरारी चौहान कोषाध्यक्ष स्वास्थ विभाग,रायअनूप श्रीवास्तव वरिष्ठ एडवोकेट एवं उपाध्यक्ष, प्रहलाद राय सहायक अध्यापक,डॉ. आरपी श्रीवास्तव कवि साहित्यकार, संजय राही प्रधान संपादक एबीसी डायरी,प्रतीक श्रीवास्तव और अखंड श्रीवास्तव,सरिता श्रीवास्तव,शालिनी श्रीवास्तव,रामसमुझ लाल कोषाध्यक्ष आर्य समाज,अशोक कुमार सिंह प्रधानाचार्य समेदा इंटर कॉलेज,केसी श्रीवास्तव सचिव, संजय कुमार श्रीवास्तव बाल विकास अधीक्षक विकास भवन, कुंवर अमिताभ कृष्ण अस्थाना, पंकज कुमार श्रीवास्तव, पूर्व  प्रधानाचार्य एवं संरक्षक विजय प्रकाश श्रीवास्तव, सुरेश श्रीवास्तव, डॉ पंकज सिंह,अजय कुमार सिंह,संजीव कुमार श्रीवास्तव,रामसकल लाल, गुरदास श्रीवास्तव,सुरेंद्र श्रीवास्तव आदि लोग उपस्थित रहे,अंत में चित्रांश महासभा के पूर्वांचल अध्यक्ष भानु प्रताप श्रीवास्तव ने सर्व समाज से आए हुए सभी प्रमुख गणमान्य अतिथियों का आभार व्यक्त किया,अध्यक्षता कर रहे सुभाष चंद्र श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में संचालन महामंत्री जगदंबा प्रसाद श्रीवास्तव और इवेंट डायरेक्टर अरविंद चित्रांश ने किया।