IND vs PAK: कोहली और रोहित की कमजोरी पर वार करके टीम इंडिया का खेल खराब कर सकते हैं बाबर आजम

टी-20 विश्व कप 2021 में हर किसी को 24 अक्टूबर की तारीख का बेसब्री से इंतजार है। इसी तारीख को टूर्नामेंट के महामुकाबले में भारत का सामना चिर प्रतिद्धंदी पाकिस्तान से होना है। टी-20 वर्ल्ड कप में पड़ोसी मुल्क को आजतक भारत के खिलाफ जीत नसीब नहीं हुई है और पाकिस्तान ही वो टीम थी जिसको हराकर टीम इंडिया ने 2007 में खिताब को अपने नाम किया था। इस बार भी हाई-वोल्टेज मैच में भारत को फेवरेट के तौर पर देखा जा रहा है, लेकिन कप्तान बाबर आजम विराट कोहली और रोहित शर्मा की सबसे बड़ी कमजोरी पर वार करके टीम इंडिया का खेल खराब कर सकते हैं। पाकिस्तान के तेज गेंदबाज शाहीन अफरीदी भारत के खिलाफ बाबर के बड़े हथियार साबित हो सकते हैं। आइए आपको समझाते हैं हम ऐसा क्यों कह रहे हैं। 

दरअसल, शाहीन अफरीदी बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं और इस समय अपने करियर की सबसे बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हैं। वॉर्मअप मैचों में भी उन्होंने काफी शानदार गेंदबाजी की थी। भारत के दो दिग्गज बल्लेबाज रोहित शर्मा और विराट कोहली हमेशा ही बाएं हाथ के फास्ट बॉलर के खिलाफ सहज नजर नहीं आए हैं। हिटमैन बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के खिलाफ अबतक अपने टी-20 करियर में 13 बार आउट हो चुके हैं, जबकि विराट भी 8 बार अपना विकेट गंवा चुके हैं। बाएं हाथ के बॉलर खासतौर पर रोहित को शुरुआत में काफी तंग करते हैं और यही वजह है कि बाबर आजम शाहीन अफरीदी को शुरुआत से ही मोर्च पर जरूर लगाएंगे। सिर्फ रोहित-विराट नहीं, बल्कि सूर्यकुमार यादव भी बाएं हाथ के तेज गेंदबाज के खिलाफ 10 बार टी-20 में पवेलियन लौटे हैं। ऐसे में बाबर अफरीदी के जरिए टीम इंडिया के बल्लेबाजों की इस कमजोरी का भरपूर फायदा उठाना चाहेंगे। 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए वॉर्मअप मैच में रोहित अच्छी लय में नजर आए थे और उन्होंने 41 गेंदों में 60 रनों की बढ़िया पारी खेली थी। हालांकि, कप्तान विराट कोहली के बल्ले से प्रैक्टिस मैच में रन नहीं निकले हैं। इंग्लैंड के खिलाफ विराट सिर्फ 11 रन ही बना सके थे। ओवरऑल रिकॉर्ड की बात करें तो कोहली को पाकिस्तान का गेंदबाजी अटैक काफी रास आता है। विराट का सामना क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में पाकिस्तान के गेंदबाजों से छह बार हुआ है, इस दौरान किंग कोहली ने जमकर धुनाई की है और 254 रन कूटे हैं। विराट तीन दफा नॉटआउट रहे हैं और उनका औसत 84.66 का रहा है। भारतीय कप्तान पाकिस्तान के खिलाफ दो अर्धशतक भी लगा चुके हैं और 78 रन उनका सर्वाधिक स्कोर रहा है।