अभी तो सिर्फ दिखावटी बैरिकेड हटे, जल्द ही तीनों कृषि विरोधी कानून भी हटेंगे, बोले राहुल गांधी

नई दिल्ली : केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सभी सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की वजह बंद पड़े रास्तों को दिल्ली पुलिस ने बहाल कर दिया है. गुरुवार को टीकरी बॉर्डर का एक रास्ता खोल दिया गया जिसके बाद आज दिल्ली पुलिस गाजीपुर बॉर्डर पर लगे बैरिकेडिंग हटा रही है.

इस घटनाक्रम पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्विटर वॉल पर लिखा कि अभी तो सिर्फ दिखावटी बैरिकेड हटे हैं, जल्द ही तीनों कृषि विरोधी कघनून भी हटेंगे...अन्नदाता सत्याग्रह जिंदाबाद! यहां चर्चा कर दें कि दिल्ली-यूपी बॉर्डर के पास गाजीपुर में किसानों के आंदोलन स्थल से दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को बैरिकेडिंग तथा कांटेदार तार हटाना शुरू कर दिया है। केन्द्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों की 26 जनवरी को दिल्ली में ‘ट्रैक्टर परेडश् के दौरान हुई हिंसा के बाद, पुलिस ने वहां लोहे तथा सीमेंट के बैरिकेड्स और कांटेदार तार लगा दिए थे. पुलिस अधिकारी और मजदूर गाजीपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग-9 पर लगाई गई लोहे की कीलों को भी हटाते हुए देखे गए, जहां सैकड़ों किसान नवंबर 2020 से सड़कघें पर डटे हैं. ज्यादातर किसान भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) से संबद्ध हैं। कृषि कानूनों के खिलाफ विभिन्न किसान संगठनों के प्रदर्शन की अगुवाई संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) कर रहा है. अवरोधक हटाने का काम सुप्रीम कोर्ट के 21 अक्टूबर के निर्देश के बाद किया जा रहा है, जिसमें कोर्ट ने दिल्ली के सीमावर्ती सिंघू, टिकरी और गाजीपुर में विरोध प्रदर्शनों के कारण बाधित सड़कों को खोलने को कहा था. कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों का कहना है कि ये कानून किसानों के हित में नहीं हैं, जबकि केन्द्र सरकार इन्हें किसान-समर्थक बता रही है।