डीएम की अध्यक्षता में तहसील पयागपुर में सम्पन्न हुआ सम्पूर्ण समाधान दिवस

बहराइच । आमजन की समस्याओं के त्वरित निस्तारण के लिए प्रत्येक माह के प्रथम एवं तृतीय शनिवार को आयोजित होने वाले सम्पूर्ण समाधान दिवसों की कड़ी में माह अक्टूबर के तृतीय शनिवार को तहसील पयागपुर में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने उप जिलाधिकारी पयागपुर कीर्ति प्रकाश भारती, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, प्रशिक्षु पी.सी.एस. नमन देओल के साथ आये हुए फरियादियों की समस्याओं की गम्भीरतापूर्वक सुनवाई की और उसके निस्तारण के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने ग्राम पंचायत जैसोरा की श्रीमती सीमावती पत्नी संतोष व जानकी पत्नी राम गोपाल तथा ग्राम पंचायत मनिकापुर श्रीमती सुभाग पत्नी शिवदयाल व मीरा पत्नी ननके को प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) अन्तर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) अन्तर्गत स्वीकृति-पत्र का वितरण किया। इसके अलावा महात्मा गॉधी राष्ट्रीय ग्रामीण गारण्टी योजना अन्तर्गत ग्राम पंचायत पटना के  अयोध्या पुत्र रामखेलावन सुअर पालन, हरदाही के लल्लन पुत्र रामलखन, सालिया पत्नी छोटकऊ को बकरी पालन, प्रतापपुर उपरहर करिंगन पुत्र शंकर व जयजय पुत्र भगीरथ को शोकपिट/रिचार्ज पिट योजना के तहत स्वीकृति-पत्र का वितरण किया।

सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर आई.सी.डी.एस., राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन तथा आजीविका मिशन के तहत गठित स्वयं सहायता समूहों सहित अन्य विभागों द्वारा लगाये गये स्टालों का निरीक्षण कर आई.सी.डी.एस. विभाग के पण्डाल के निरीक्षण के दौरान 05 गर्भवती महिलाओं श्रीमती शीलू, सुनीता, गोमती, सुशीला व पिंकी की गोद भराई की तथा 04 बच्चों ननकई, रूद्र प्रताप, शालू व बबलू को अन्नप्रासन कराया तथा एन.आर.एल.एम. की बैंक सखी मीना देवी को डिवाइस प्रदान किया। इस अवसर पर जिला स्तरीय अधिकारी, सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, खण्ड शिक्षा अधिकारी, थानाध्यक्ष व अन्य लोग मौजूद रहे।

उल्लेखनीय है कि तहसील पयागपुर में प्राप्त 60 में 06, महसी में प्राप्त 09 में 03, तहसील सदर बहराइच में प्राप्त 07 में 01 तथा कैसरगंज में प्राप्त 29 में 03 प्रार्थना-पत्रों का निस्तारण मौके पर किया गया। जबकि तहसील नानपारा में प्राप्त 03 व मिहींपुरवा (मोतीपुर) में प्राप्त 06 के सापेक्ष निस्तारण शून्य रहा।