नाश्ते में खाएं भीगे काले चने, रहेंगे सुरक्षित

स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने के लिए विशेषज्ञ, सभी लोगों को सुबह पौष्टिक नाश्ता करने की सलाह देते हैं। रात के करीब 10 घंटे खाली पेट के बाद शरीर को ऊर्जा के लिए पर्याप्त पौष्टिकता की आवश्यकता होती है। डॉक्टरों के मुताबिक नाश्ते में ज्यादा तली-भुनी चीजों की जगह ऐसे आहार को शामिल करना चाहिए जिससे शरीर के लिए आवश्यक ज्यादातर पोषक तत्वों की आसानी से पूर्ति हो जाए। भीगा हुआ काला चना खाना, ऐसी स्थिति में आपके लिए सबसे लाभकारी हो सकता है। भीगे हुए काले चने में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए आवश्यक माने जाते हैं। 

विशेषज्ञों के मुताबिक काले चने को रात भर भिगो दें और सुबह जब वे नरम हो जाएं तो कम से कम एक मुट्ठी की मात्रा में इन चनों का सेवन  करें। हालांकि इसकी मात्रा को सुनिश्चित करना आवश्यक होता है क्योंकि ज्यादा मात्रा में इसके सेवन के कारण लोगों को दस्त की समस्या भी हो सकती है। आइए आगे की स्लाइडों में हर सुबह भीगे हुए काले चने खाने से होने वाले फायदों के बारे में जानते हैं। 

प्रोटीन और आयरन का स्रोत

शाकाहारी लोग आमतौर पर प्रोटीन वाले आहारों को लेकर चिंतित रहते हैं। भीगे हुए काले चने का सेवन न सिर्फ प्रोटीन बल्कि शरीर के लिए आवश्यक आयरन की पूर्ति के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा, अगर आप एनीमिया से पीड़ित हैं तो आपको अपने आहार में काले चने को जरूर शामिल करना चाहिए। शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को सुधारने में चने का सेवन आपके लिए काफी लाभदायक हो सकता है। 

पाचन के लिए फायदेमंद

भीगे हुए काले चने फाइबर से भरपूर होते हैं जो पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। यह शरीर से सभी हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के साथ आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते हैं। नियमित रूप से काले चने खाने से कब्ज और अपच जैसी पाचन संबंधी समस्याएं दूर रहती हैं। काले चने खाने से लिवर को भी स्वस्थ बनाए रखने में सहायता मिलती है।

डायबिटीज में फायदेमंद 

भीगे हुए काले चने का नियमित सेवन आपके शरीर के ब्लड शुगर लेवल को बनाए रखने में मदद करता है। काले चने में मौजूद कॉम्प्लेक्स कार्ब्स रक्त में शुगर के अवशोषण को नियंत्रित करते हैं। काले चने में मौजूद कार्ब्स ब्लड शुगर लेवल को कम करते हैं जिससे टाइप-2 डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है। चूंकि इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर की भी मात्रा होती है ऐसे में इसे डायबिटीज रोगियों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। 

वजन को कम करने में सहायक

यह सर्वविदित है कि फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ भूख को कम करते हैं और वजन घटाने में सहायता करते हैं। इसके अलावा घुलनशील फाइबर पाचन को सुचारू रखने के साथ पित्त उत्सर्जन को बढ़ावा देते हैं जिससे कब्ज की समस्या को कम किया जा सकता है। भूख को कम करने और कैलोरी की मात्रा सीमित करने के लिए डॉक्टर भीगे हुए काले चने खाने और इसके पीना पीने की सलाह देते हैं।