दिल्ली सरकार का रोजगार बाजार पोर्टल युवाओं के लिए लाइफ लाइन बन गया

 दिल्ली सरकार रोजगार बाजार 2.0 पोर्टल बनाने के लिए पूरी तरह से तैयार है और यह देश में अपनी तरह का पहला जॉब मैचिंग डिजिटल प्लैटफॉर्म होगा, जहां युवा प्रवेश स्तर पर नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे। केजरीवाल सरकार की तरफ से पिछले साल लॉन्च किया गया रोजगार बाजार पोर्टल दिल्ली में रोजगार की तलाश कर रहे लाखों युवाओं और स्किल्ड वर्कफोर्स की तलाश कर रहे हजारों व्यवसायियों के लिए लाइफलाइन के रूप में उभरकर सामने आया है। इसकी कामयाबी को देखते हुए केजरीवाल सरकार रोजगार बाजार 2.0 पोर्टल बनाने की तैयारी तेज कर दी है। बताया जा रहा है कि यह देश में अपनी तरह का पहला जॉब मैचिंग डिजिटल प्लैटफॉर्म होगा, जहां युवा एंट्री लेवल जॉब्स के लिए अप्लाई कर सकेंगे।

दिल्ली सरकार के रोजगार विभाग ने इस संबंध में 14 अक्टूबर को निविदा जारी की है। रोजगार बाजार 1.0 पोर्टल की सफलताओं पर आधारित, नया पोर्टल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) आधारित जॉब मैचिंग सेवाओं के साथ-साथ दिल्ली के युवाओं को एक ही मंच पर रोजगार से संबंधित सेवाएं प्रदान करेगा।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री एवं श्रम मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि रोजगार बाजार 1.0 पोर्टल अगस्त 2020 में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा कोरोना महामारी के उस दौर में लॉन्च किया गया, जब लाखों लोग बेरोजगार हो गए थे और यह पोर्टल उन बेरोजगार युवाओं और दिल्ली के छोटे व्यवसायियों के लिए एक लाइफ लाइन बन गया।

उन्होंने कहा कि वर्तमान रोजगार बाजार पोर्टल पर 14 लाख से अधिक नौकरी चाहने वालों लोगों का और 10 लाख नौकरियों का विज्ञापन पहले ही किया जा चुका है। भारत में किसी भी राज्य सरकार द्वारा कोई अन्य जॉब मैचिंग प्लैटफॉर्म इतना सफल नहीं रहा है, लेकिन हम यहीं नहीं रुकना चाहते हैं। नया रोजगार बाजार 2.0 पोर्टल के माध्यम से केजरीवाल सरकार भारत में अपनी तरह के पहले डिजिटल प्लैटफॉर्म पर कौशल प्रशिक्षण, करियर मार्गदर्शन और नौकरी मिलान से संबंधित सभी सेवाएं एक ही प्लैटफॉर्म पर लेकर आएगी।

रोजगार बाजार 1.0 पोर्टल के अनुभवों के आधार पर और दिल्ली भर में रोजगार लिंकेज बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार ने मौजूदा रोजगार बाजार पोर्टल को अपग्रेड करने का निर्णय लिया था, जिसमें राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय जॉब पोर्टल्स से बेस्ट-इन-क्लास प्रैक्टिसेज को शामिल किया जाएगा।

रोजगार बाजार 2.0 किसी भी राज्य सरकार द्वारा अपने नागरिकों को रोजगार संबंधी सभी सेवाएं निर्बाध रूप से प्रदान करने के लिए शुरू किया गया अपनी तरह का पहला अनूठा प्लैटफॉर्म होगा। जॉब मैचिंग के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित स्मार्ट-मैचिंग और नियोक्ता सत्यापन के अलावा, यह प्लैटफॉर्म अन्य महत्वपूर्ण सेवाओं की एक श्रृंखला भी प्रदान करेगा। यहां युवाओं को स्किलिंग, करियर गाइडेंस, स्किल क्रेडेंशियल और ऑटोमेटेड एनालिटिक्स सेवाएं भी मिलेंगी, जिससे सभी नौकरी चाहने वालों को बेहतर जॉब हासिल करने के लिए उनकी अपस्किलिंग करने में मददगार साबित होगा।

इसके साथ ही यह प्लैटफॉर्म, युवाओं को करियर गाइडेंस भी प्रदान करेगी, जिससे नौकरी चाहने वालों को अपने पसंदीदा क्षेत्र में करियर बनाने में मदद मिलेगी। इसके साथ-साथ यह प्लैटफॉर्म एक विश्लेषण देगा, जिससे सरकार को नीतियां तैयार करने और उसे जमीनी स्तर पर लागू कर लोगों तक उसका सकारात्मक लाभ पहुंचाने में मदद मिलेगी। उल्लेखनीय है कि बड़ी संख्या में असंगठित श्रमिक डिजिटल प्लैटफॉर्म तक नहीं पहुंच सकते हैं, इसलिए दिल्ली सरकार रोजगार बाजार प्लैटफॉर्म तक उनकी पहुंच बढ़ाने के लिए कई केन्द्रों की शुरुआत भी करेगी।