बिजली प्लांट पर काम करने आए दो सिख युवकों के साथ जनरल मैनेजर ने की मारपीट, सिख समाज में रोष

 मेरठ: मेरठ के परीक्षितगढ़ थानाक्षेत्र में दो दिन पहले एक बिजली प्लांट पर काम करने आए दो सिख युवकों के साथ जनरल मैनेजर ने मारपीट कर दी। आरोप है कि जीएम ने दोनों युवकों को चोरी का इल्जाम लगाते हुए उनके साथ मारपीट की और उन्हें कमरे में बंधक बनाकर पगड़ी से बाल उखाड़े। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने युवकों को जांच किए बिना ही थाने में बैठा लिया। वहीं इस मामले को लेकर सिख समाज में रोष फैल गया। सिख समाज के लोग एकत्र होकर थाने पहुंच गए और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाते हुए आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

जानकारी के अनुसार ग्राम अमहमदपुरी में नए बिजलीघर का निर्माण चल रहा है। यहां सिख समाज के दो युवक मुकेश सिंह, विक्रम सिंह निवासी दिल्ली सारिया काटने का काम करते हैं। बिजली प्लांट पर जीएम विद्युत विभाग के जीएम कुलदीप ने मजदूरों पर चोरी का इल्जाम लगाते हुए उनके साथ मारपीट कर दी।

बताया गया कि इस दौरान दोनों सिख समाज के लोगों की पगड़ी से बाल उखाड़ दिए और उन्हें एक कमरे में बंधक बनाते हुए थाना पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों सिख समाज के लोगों को हिरासत में लेते हुए थाने ले आई और जांच किए बिना युवकों को हवालात में बंद कर दिया।  

वहीं मंगलवार को सिख समाज के युवकों की पगड़ी से बाल उखाड़ने का पता लगने पर सिख समाज में रोष फैल गया। भाजपा नेता अमित मोहन टीपू के नेतृत्व में दर्जनों लोग पुलिस के खिलाफ नगर में जुलूस निकालते हुए थाने पहुंचे और नारेबाजी करते हुए हंगामा करने लगे।

सिख समाज के लोगों ने जीएम कुलदीप के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मुकदमा दर्ज करने व मजदूरों को छोड़ने की मांग करने लगे। करीब दो घंटे हंगामा के बाद पुलिस ने दोनों मजदूरों को थाने से छोड़ दिया, लेकिन सिख समाज के लोग जीएम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग पर अड़े रहे।