बड़ी-बड़ी बीमारियों का काल ये कड़वी चीजें, थाली में जरूर करें शामिल

बीते वर्ष से दुनियाभर में कोरोना फैला हुआ है। ऐसे में इससे बचने के लिए एक्सपर्ट द्वारा हर किसी को इम्यूनिटी बूस्ट करने की सलाह दी जा रही है। इम्यूनिटी बढ़ने से रोगों से लड़ने की शक्ति मिलेगी। साथ ही बीमारियों की चपेट में आने का खतरा भी कम रहेगा। इसके लिए आप अपनी डेली डाइट में कुछ कड़वी चीजें शामिल कर सकते हैं। ये कड़वी चीजें भले ही खाने में अच्छी ना लगे। मगर ये सेहत के लिए फायदेमंद मानी जाती है। चलिए जानते हैं इसके बारे में...

कड़वी चीजें खाने के फायदे

कड़वी चीजों स्लाइवा और पेट के एसिड को बढ़ाती है। इससे इम्यूनिटी और पाचन तंत्र मजबूत होता है। इसके साथ ही शरीर भोजन से अधिक मात्रा में पोषक तत्व लेने का काम करता है। ऐसे में हेल्दी रहने के लिए डेली डाइट में कड़वी चीजों को शामिल करना बेस्ट ऑप्शन है। चलिए जानते हैं कुछ कड़वी चीजों के बारे में...

करेला

करेला स्वाद में भले ही कड़वा हो। मगर यह शरीर के लिए औषधी की तरह माना जाता है। इसमें सभी जरूरी तत्व, फ्लेवोनोइड्स, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल आदि गुण होते हैं। इसके सेवन से तेजी से इम्यूनिटी बढ़ती है। यह डायबिटीज कंट्रोल करने में कारगर होता है। ऐसे में खासतौर पर टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों को इसका सेवन करना चाहिए। यह शरीर में कैंसर के सेल्स पनपने से रोकता है। इसके अलावा करेले का जूस पीने से चेहरे पर भी ग्लो आता है।

हरी पत्तेदार सब्जियां

हरी पत्तेदार सब्जियों में आयरन, कैल्शियम विटामिन, फाइबर, प्रोटीन, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। इसका सेवन करने से इम्यूनिटी तेजी से बढ़ती है। ऐसे में बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम रहता है। इसके अलावा पाचन तंत्र तेज होने से पेट संबंधी समस्याओं से बचाव रहता है। इसके साथ ही रोजाना हरी सब्जियां खाने से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी की चपेट में आने का खतरा कम रहता है। आप इनका सब्जी, जूस, सूप सलाद आदि की तरह सेवन कर सकती है।

ग्रीन टी

ग्रीन टी पोषक तत्वों, एंटी-ऑक्सीडेंट व औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसका सेवन करने से इम्यूनिटी व पाचन तंत्र तेज होता है। मेटाबॉलिज्म मजबूत होने के साथ वजन कंट्रोल रहने में मदद मिलती है। आप अपनी डेली की चा व कॉफी को ग्रीन टी से बदल सकती है। रोजाना 2 कप ग्रीन टी पीने से आपको फायदा मिलेगा।

डार्क चॉकलेट

चॉकलेट तो हर किसी को खाना पसंद होती है। मगर डार्क चॉकलेटकड़वी होने के कारण अक्सर लोग इसे कम ही खाते हैं। मगर कड़वी होने के बावजूद यह सेहत के लिए फायदेमंद मानी जाती है। इसमें कोकोआ पाउडर मिलाया जाता है, जो कोकोआ प्लांट की बीन्स से बनाया जाता है। डार्क चॉकलेट में पॉलीफेनोल्स और एंटीऑक्सीडेंट तत्व होने से इसका टेस्ट कड़वा होता है। इसमें मौजूद इन तत्वों के कारण ब्लड वैसल्स चौड़े होते हैं। ऐसे में इसका सेवन करने से इंफ्लेमेशन की समस्या से राहत मिलती है। इसके अलावा इसमें जिंक, कॉपर, मैग्नीशियम, आयरन आदि तत्व होते हैं। इसके सेवन से मूड सही रहने में भी मदद मिलती है। ऐसे में डार्क चॉकलेट का सेवन करने से बेहतर शारीरिक व मानसिक विकास होने में मदद मिलती है।

साइट्रस पील

विटामिन सी से भरपूर नींबू, संतरे आदि के फलों का सेवन तो हर किसी ने किया होगा। मगर इन फलों के छिलकों का सेवन करना बेहद फायदेमंद माना जाता है। ये स्वाद में भले ही कड़वे हो मगर ये सेहत के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। आप इन छिलकों की चाय बनाकर पी सकती है। इन फलों के छिलकों में फ्लेवोनॉयड्स होता है जो कुछ ही फलों के अंदर पाया जाता है। इसके सेवन से इम्यूनिटी तेजी से बूस्ट होती है। ऐसे में बीमारियों से बचाव रहता है। इसके साथ ही इससे शरीर पर जमा एक्सट्रा चर्बी कम होकर वजन कंट्रोल रहने में मदद मिलती है।