टाटा संस ने एयर इंडिया के लिए बोली जीती, सरकार ने कहा-अभी फैसला नहीं हुआ

नई दिल्ली : कर्ज में डूबी सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया की बोली टाटा संस ने जीत ली है। एक रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। टाटा संस के प्रवक्ता ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है। वहीं एयर इंडिया ने भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार घाटे में चल रही एयरलाइन में अपना पूरा हिस्सा बेचने पर जोर दे रही थी। अधिकारियों ने कहा कि सरकार को एयर इंडिया चलाने से हर दिन लगभग 200 मिलियन रुपये का नुकसान होता है, जिससे 700 बिलियन रुपये (9.53 बिलियन डॉलर) से अधिक का नुकसान हुआ है।

 इस बीच सरकार का कहना है कि अभी इस पर फैसला नहीं हुआ है और जघ्ब होगा तो जानकारी दी जाएगी। एअर इंडिया के लिए टाटा ग्रुप और स्पाइसजेट के अजय सिंह ने बोली लगाई थी। यह दूसरा मौका है जब सरकार एअर इंडिया में अपनी हिस्सेदारी बेचने की कोशिश कर रही थी। इससे पहले 2018 में सरकार ने कंपनी में 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने की कोशिश की थी लेकिन उसे कोई रिस्पांस नहीं मिला था। वहीं निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव ने ट्वीट कर कहा, श्मीडिया में आ रही इस तरह की खबरें गलत हैं, सरकार जब भी इस पर निर्णय ले लेगी, मीडिया को जानकारी दी जाएगी।