कुत्तों की बढ़ती संख्या रोकने के किए उपाय, नोटिस

ग्रेटर नोएडा। सेक्टर-77 स्थित प्रतीक विस्टीरिया सोसाइटी के निवासियों की लावारिस कुत्तों के आतंक की शिकायत पर भारतीय जीव जंतु कल्याण बोर्ड (एडब्ल्यूबीआई) ने जिलाधिकारी, पुलिस कमिश्नर और नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) को नोटिस भेजा है। निवासियों ने शिकायत में कहा था कि सोसाइटी में लावारिस कुत्तों संख्या बढ़ गई है। 20 से ज्यादा ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जहां कुत्तों ने लोगों को काट कर जख्मी कर दिया। इसके बावजूद जिला प्रशासन, पुलिस और प्राधिकरण कोई ठोस योजना बनाने में असफल रहे हैं। इस पर संज्ञान लेते हुए बोर्ड के सचिव एसके दत्त ने यह नोटिस जारी किया है। उन्होंने इस पर तुरंत प्रभाव से अमल करने को कहा है। बोर्ड ने नोटिस में कहा है कि अपार्टमेंट ओनर्स एसोसिएशन (एओए) नोएडा प्राधिकरण, डॉग फीडर और संबंधित थानों के एसएचओ मिलकर एनिमल वेलफेयर कमेटी गठित करें, ताकि इन लावारिस जानवरों की रक्षा हो सके और लोगों को इनके खतरे से बचाया जा सके। नियमों के तहत गठित यह कमेटी हर महीने एक बैठक कर हालात की समीक्षा करेगी। इसमें एडब्ल्यूबीआई के सभी नियमों का पूरी तरह पालन किया जाए। बोर्ड ने जिलाधिकारी, पुलिस कमिश्नर और सीईओ से कहा है कि दिल्ली हाईकोर्ट के उस फैसले का भी पालन किया जाए, जिसमें कहा गया था कि एक एनिमल वेलफेयर कमेटी बनाई जाए जो निवासियों, सोसाइटी और जीव-जंतु प्रेमियों के बीच समन्वय बनाए। वहीं, सेक्टर-120 स्थित आम्रपाली जोडियक सोसाइटी में लावारिस कुत्तों को खाना खिलाने को लेकर बृहस्पतिवार को एओए और निवासियों में कहासुनी हुई। एओए अध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने कुत्तों को खाना खिलाने वाले के खिलाफ पुलिस से शिकायत की।