लखीमपुर हिंसा: प्रियंका गांधी गिरफ्तार, सीतापुर के पीएसी गेस्‍ट हाउस में बनाई गई अस्‍थाई जेल

सीतापुर : लखीमपुर हिंसा के बाद मचे बवाल के बीच किसानों से मिलने जा रहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को हिरासत में लेने के बारे में यूपी पुलिस ने स्थिति स्‍पष्‍ट कर दी है। पुलिस के मुताबिक प्रियंका गांधी को गिरफ्तार किया गया है। उनके लिए सीतापुर के पीएसी गेस्‍ट हाउस में अस्‍थाई जेल बनाई गई है। प्रियंका गांधी, हरियाणा से कांग्रेस के राज्‍यसभा सांसद दीपेन्‍द्र हुड्डा और कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष अजय लल्‍लू समेत कुल 11 लोगों के खिलाफ पुलिस ने धारा 151, 107, 116 के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी चार अक्‍टूबर की सुबह साढ़े चार बजे की गई थी। गिरफ्तारी के बाद उन्‍हें सीतापुर में पीएसी बटालियन के गेस्‍ट हाउस में रखा गया है। इस गेस्‍ट हाउस को उनके लिए अस्‍थाई जेल बनाया गया है।

प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने को लेकर कांग्रेस पार्टी ने अपना गुस्‍सा जताया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदम्‍बरम ने मुखर विरोध करते हुए कहा कि यह पूरी तरह गैरकानूनी और बेहद शर्मनाक है। उन्‍होंने कहा कि प्रियंका गांधी को सर्योदय से पहले साढ़े चार बजे एक पुरुष पुलिस अधिकारी द्वारा गिरफ्तार किया गया। इसके बाद उन्‍हें अभी तक किसी ज्‍यूडिशियल मजिस्‍ट्रेट के सामने नहीं पेश किया गया। उन्‍होंने कहा कि बिल्‍कुल कानून के खिलाफ है। 

मंगलवार की सुबह प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी के नाम एक वीडियो जारी किया था। इसमें उन्‍होंने मोबाइल पर लखीमपुर हिंसा से पहले किसानों को जीप से रौंदे जाने का एक कथित वीडियो दिखाते हुए पीएम से पूछा कि क्‍या आपने यह वीडियो देखा है?  उन्‍होंने इस मामले में अब तक केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्‍तगी और उनके बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी न होने पर सवाल उठाया था। गौरतलब है कि आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्‍या का केस दर्ज है। 

इसके पहले मंगलवार की सुबह प्रियंका ने एक ट्वीट कर 28 घंटे से ज्‍यादा वक्‍त तक हिरासत में रखे जाने पर भी सवाल उठाया था। इसके थोड़ी देर बाद ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी बहन के समर्थन में ट्वीट किया। राहुल ने प्रियंका को सच्‍ची कांग्रेसी बताते हुए लिखा कि-वह डरने वाली नहीं हैं। 

प्रियंका गांधी को हिरासत में लिए जाने पर सोमवार को उनके पति रॉबर्ट वाड्रा की प्रतिक्रिया भी सामने आई थी। मीडियाकर्मियों से बातचीत में वाड्रा ने कहा था कि यूपी में बीजेपी की सरकार है। इसका मतलब यह नहीं है कि वे कुछ भी करेंगे। रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि यूपी के लखीमपुर में जो कुछ हुआ है वो कोई सामान्‍य घटना नहीं है। इस घटना से पूरे देश में आक्रोश है। 

आरोप लगा है कि विरोध कर रहे किसानों पर केंद्रीय मंत्री के बेटे ने कार चढ़ा दी। सरकार को इस मामले में कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। दोषियों को बख्‍शा नहीं जाना चाहिए। साथ ही जान गंवाने वाले किसानों की पूरी मदद होनी चाहिए। सरकार और आम लोग, सभी को किसानों की मदद करनी चाहिए। उन्‍होंने कहा कि प्रियंका गांधी पीड़ित परिवारों से मिलने गई हैं और मिलकर रहेंगे। सरकार को उन्‍हें रोकना नहीं चाहिए। उन्‍होंने कहा कि एक तरफ आप महिला सुरक्षा की बात करते हैं लेकिन जिस तरीके से महिला के साथ बर्ताव कर रहे हैं वो ठीक नहीं है। 

हिरासत में लिए जाने के बाद प्रियंका गांधी को सीतापुर के जिस PAC बटालियन के गेस्टहाउस में रखा गया वहां उनकी सफाईगिरी सामने आई। प्रियंका गेस्‍ट हाउस के कमरे में अपने हाथों से झाड़ू लगाती नज़र आईं। 42 सेकेंड का ये वीडियो कांग्रेस के ट्वि‍टर हैंडल से हैशटैग लखीमपुर, हैशटैग किसान और हैशटैग लखीमपुर खीरी के साथ ट्व‍ीट किया गया है। इसके साथ ही पार्टी की ओर से लिखा गया है-संघर्ष की तस्वीर....सीतापुर के इसी गेस्टहाउस में श्रीमती प्रियंका गांधी को हिरासत में रखा गया है। उधर, सीतापुर पीएसी गेस्‍ट हाउस के बाहर कांग्रेसियों ने आज भी प्रदर्शन किया। आज दोपहर में कुछ कांग्रेसियों ने पुलिस की बैरिकेडिंग हटाकर गेट पर चढ़ने की कोशिश की। इस दौरान उनकी पुलिस से तीखी बहस हुई। कांग्रेस ने इस मामले को लेेकर संघर्ष का ऐलान किया है।