मांसपेशियों में क्यों बन जाती है गांठें, घरेलू नुस्खे करेंगे इलाज

शरीर पर उभरी हुई स्किन या गांठे दिखाई दे रही हैं तो उसे हल्के में ना लें क्योंकि यह मांसपेशियों में गांठे का संकेत हो सकता है। इसके कारण तेज दर्द, सूजन और त्वचा में लालपन भी हो सकता है। हालांकि ये अलग-अलग तरह की होती है, जो ज्यादातर कंधे, पिंडलियों, पीठ, गर्दन, हाथ, पसलियों पर होती है। किसी को छोटी, सख्त या किसी को दर्द वाली गांठे बनती है, जिसका अगर समय रहते इलाज ना किया जाए तो यह गंभीर रूप ले सकती है।

सबसे पहले जानिए मांसपेशियों में गांठ पड़ने के कारण

मांसपेशियों में चोट लगना

किसी गंभीर चोट के कारण मांसपेशियों में गांठ पड़ सकती है जो जल्दी या लंबे समय के बाद भी नजर आ सकती हैं।

डाइट में पोषण की कमी

डाइट में पोषक तत्व खासकर विटामिन्स, कैल्शियम, प्रोटीन और स्वस्थ फैट की कमी से भी गांठें बन सकती हैं। ऐसे में आपको एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए।

जोड़ों में पुरानी समस्या

जोड़ों या मांसपेशियों से जुड़ी पुरानी बीमारी के कारण पैरों के पास गांठ बन सकती है, जो सीजन और दर्दभरी हो सकती है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। 

मोटापे के कारण

लगातार बढ़ता वजन और अनफिट बॉडी कई बीमारियों का घर है। वहीं, शरीर में बैड कोलेस्ट्राल और फैट जमा होने के कारण कमर के आसपास की मांसपेशियों में गांठे बन सकती हैं। ऐसे में आपको तुरंत चेकअप करवाना चाहिए।

खून के थक्के

शरीर के किसी हिस्से में खून के थक्के बनने की वजह से भी मांसपेशियों में गांठ महसूस हो सकती है। इसमें कई बार दर्द और दबाने पर चुभन भी हो सकती है।

मांसपेशी में गांठों का घरेलू इलाज

वैसे तो इस मामले में आपको तुरंत एक्सपर्ट से संपर्क करना चाहिए लेकिन डॉक्टरी ट्रीटमेंट के साथ-साथ आप कुछ घरेलू नुस्खे भी ट्राई कर सकते हैं...

1. गांठों वाली जगह पर गर्म और ठंडा का सेंक करें। इससे इससे रक्त वाहिकाओं को संकुचित होने में मदद मिलेगा और ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा। साथ ही इससे सूजन भी कम होगी। 

2. सरसों के तेल में लहसुन गर्म करके प्रभावित हिस्से पर मालिश करें। इससे खून का प्रवाह भी बढ़ेगा।

3. हल्दी में शहद मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं। हल्दी वाला दूध पीने से भी आराम मिलेगा। 

क्या खाएं?

अगर ऐसा पोषक तत्वों की कमी से हो रहा है तो डाइट में दूध, दही, फल, सब्जियां, पालक, ब्रोकली, सुखे मेवे, बीन्स, दलिया, डेयरी फूड्स, मछली आदि शामिल करें। इससे रक्त प्रवाह बेहतर होगा और आपको गांठ से भी राहत मिल सकती है।

रोजाना व्यायाम करें

रोजाना कम से कम 30 मिनट व्यायाम या मांसपेशियों के खिंचाव वाली स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें। इससे रक्त का प्रवाह बढ़ता है और गांठ आसानी से दूर हो जाती है।

posted by - दीपिका पाठक