ब्राह्मण समाज ने धूमधाम से मनाया विजय दशमी, किया शस्त्र पूजन

शाहजहांपुर। ब्राह्मण समाज द्वारा अधर्म पर धर्म औरअन्याय पर न्याय की विजय के प्रतीक विजय दशहरा का उत्सव भव्यता पूर्वक भगवान परशुराम धाम पर मनाया गया। सर्वप्रथम वेदमंत्रोंसे भगवान परशुरामजी तथा आदिशक्ति माँ अंबे का पूजन कर शस्त्र पूजन आचार्यों द्वारा कराया गया। जिला महामंत्री राकेश कुमार पांडेय के संचालन में हुए कार्यक्रम में शस्त्रपूजन उपरांत सामुहिक प्रार्थना हुई, आपसी परिचय उपरांत सभी ने एक दूसरे को विजय पर्व दशहरे की बधाई दी। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए ब्राह्मण समाज के संस्थापक पंडित राजाराम मिश्र ने लोगों का आवाहन किया कि ब्राह्मण अन्याय के आगे कभी नहीँ झुका है। हम अपने स्वाभिमान से पहले राष्ट्र के स्वाभिमान के लिए जिये हैं। त्याग तपस्या और बलिदान एक ओर हमारी पहचान है तो तो जरूरत पड़ने पर हम शस्त्र उठाने से भी पीछे नहीँ रहे, हम एक हाथ में जब शास्त्र धारण करते हैं हैं तो दूसरे हाथ से शस्त्र संचालन भी करना जानते है। आज के इस पर्व पर हम संकल्प लें कि समाज के हर जन की मेरी पीड़ा है, हम उनके साथ हर पल खड़े रहेंगे। आज समाज में अधर्म के रूप में कई कुरीतियां हैं, अशिक्षा हो, गरीबी हो, अस्वच्छता हो या सामाजिक विद्वेष सबको परास्त करना है, आगे बढ़ना है। शस्त्र पूजन कार्यक्रम में समाज के युवा राजकमल बाजपेयी, राहुल मिश्र, गौरव अग्निहोत्री, आलोक मिश्र का विशेष योगदान रहा। कार्यक्रम में मुख्यरूप से प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश मिश्र, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. विजय पाठक, प्रदेश महामंत्री डॉ. के.के शुक्ल, जिलाध्यक्ष केशव चन्द्र मिश्र, महानगर अध्यक्ष डॉ. संजय पाठक,  राकेश पांडेय, प्रदेश अध्यक्ष युवा सुमित चतुर्वेदी, प्रदेश महामंत्री विजय गौड़, राजकमल बाजपेयी, मोहन मिश्र, अशोक मिश्र, कौशल शुक्ल, अतुल दीक्षित, नरेंद्र मिश्र, सर्वेश तिवारी, अजय मोहन शुक्ल, श्रीकांत मिश्र, भावशील शुक्ल, अम्बरीष शुक्ल, विंनोद तिवारी, अजय मिश्र, अनिल द्विवेदी, अवधेश शुक्ल,सत्यप्रकाशशुक्ल, राजू मिश्र, सहित सैकड़ों ब्राह्मण समाज के लोगों के उपस्थित रहे।