बच्चे को खिलाएं फाइबर से भरपूर हेल्दी प्यूरी, पाचन तंत्र होगा मजबूत

बच्चे के 6 महीना का होने पर उसके दांत आने शुरू हो जाते हैं। ऐसे में इस दौरान उसकी हेल्दी ग्रोथ के लिए कुछ ठोस आहार खिलाना शुरु किया जाता है। इससे बच्चे का शारीरिक व मानसिक विकास बेहतर तरीके से होने में मदद मिलती है। मगर इस दौरान पेरेंट्स अक्सर कशमकश में रहते हैं कि बच्चे को क्या खिलाया जाए? ऐसे में आप बच्चे को हेल्दी प्यूरी बनाकर खिला सकती है। इससे बच्चे को सभी जरूरी तत्व व एंटी-ऑक्सीडेंट गुण मिलेंगे। ऐसे में उसे कब्ज व अन्य समस्याओं से आराम मिलेगा। चलिए जानते हैं बेबी फूड बनाने का तरीका

सामग्री

केला- 1

नाशपाती- 1 (छिला हुआ)

टोफू- 1 कप

पानी- जरूरत अनुसार

बेबी फूड बनाने का तरीका

. सबसे पहले टोफू को कटिंग बोर्ड पर रखकर हल्का सा दबाएं। ताकि इसमें से पानी निकल जाए।

. उसके बाद टोफू को काटकर ब्लेंडर या फूड प्रोसेसर की मदद से पीस लें।

. अब इसमें केला और नाशपाती भी काटकर ब्लेंड करें।

. 1-2 मिनट तक इसे चलाकर स्मूद का पेस्ट बनाएं।

. अगर आपको प्यूरी ज्यादा गाढ़ी लगे तो इसमें पानी मिलाएं।

. लीजिए आपका बेबी फूड बनकर तैयार है।

. इसे एयरटाइर कंटेनर में भरकर फ्रिज में स्टोर करें।

. आप इसे 3-4 दिनों तक आसानी से बच्चे को खिला सकती है।

. मगर इसे बच्चे को ताजा खिलाना ज्यादा फायदेमंद रहेगा।

बच्चों को टोफू खिलाने के फायदे

टोफू में कैल्शियम, प्रोटीन, फाइबर, आयरन, डायट्री फाइबर, विटामिन बी 2, सी, बी 6, पोटैशियम आदि उचित तत्व होते हैं। इसका सेवन करने से बच्चे की मांसपेशियां व हड्डियां मजबूत होगी। इससे बच्चे का पाचन तंत्र मजबूत होगा। ऐसे में उसे कब्ज व पेट संबंधी अन्य समस्याओं से छुटकारा मिलेगा। ऐसे में उसे बेहतर शारीरिक विकास करने में मदद मिलेगी। इसके साथ उसका पेट भी लंबे समय तक भरा रहेगा। ऐसे में बच्चे का वजन भी कंट्रोल रहेगा।

बच्चों को नाशपाती खिलाने के फायदे

इस बेबी फूड में मौजूद नाशपाती घुलनशील फाइबर है। इसमें सभी जरूरी तत्व, एंटी-ऑक्सीडेंट, पेक्टिन आदि गुण होते हैं। ये शरीर को फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करते हैं। इसके साथ शरीर में एंटी-ऑक्सीडेंट व फ्री रेडिकल्घ्स के बीच बैलेंस बनाते हैं। इसके सेवन से बच्चे को कब्ज की समस्या से आराम मिलता है। इसके साथ ही उसे बेहतर शारीरिक व मानसिक विकास करने में मदद मिलती है।

बच्चों को केला खिलाने के फायदे

केला पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, फोलिक एसिड, नियासिन, विटामिन ए, बी6, फाइबर आदि तत्वों से भरपूर होता है। इसके सेवन से बच्चे को कब्ज की समस्या से बचाव रहता है। इसके साथ ही पाचन तंत्र बेहतर होता है। इसके साथ ही इसमें मौजूद फोलिक एसिड दिमाग का विकास करने में मदद करता है। ऐसे में बच्चे की स्मरण शक्ति बढ़ती है। बच्चे की आंखों के लिए भी केला फायदेमंद माना जाता है। इसके सेवन से बच्चे की आंखों की रोशनी तेज होगी।