नोएडा की तर्ज पर अब सहानरपुर में भी आवासीय क्षेत्र से हटेंगे नर्सिंग होम

सहारनपुर। विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष ने लिया संज्ञान विशेष सचिव आवास द्वारा शाक्ति नार्सिंग होम को तोडने के लिए एक माह का समय दिया गया है। जिसमें 5 नवम्बर तक तोडकर अवगत कराने की रिर्पोट मांगी। सन् 2016 जुलाई को डा0 विनिता मल्होत्रा के शांन्ति नांर्सिग होम को गिराये जाने के आदेश किये गये थे, परन्तु विभाग की मिली भगत से आज तक विभाग द्वारा न तोडे जाने के कारण लोकायुक्त द्वारा विशेष सचिव आवास एवं शहरी नियोजन अनुभाग-8 द्वारा दिनांक 5 अक्टुबर को सहारनपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष, मण्डलायुक्त के आदेशों को सही मानते हुए एक माह में गिराने के आदेश दिये। जिसको दिनांक 5 नवम्बर 2021 तक पूर्ण रूप से ध्वस्ति करण कराया जाना है। पूर्व में 2014 उपाध्यक्ष वेद प्रकाश सिंह द्वारा मानचित्र सं0 08-2009-2010 निरस्त किया जा चुका है। जोकि आवासीय मे तीन कमरो कर मानचित्र की जगह 18 कमरे ओटी आदि बनवाये गये थे। जिसमे शपथ पत्र द्वारा और अन्य डाक्टारो द्वारा आवासीय मानचित्र पर नार्सिग होम चलाये जा रहे है। जिसका हवाला देते हुए मानचित्र को बहाल करने के लिए मण्डलायुक्त से गुहार लगाई गई थी। परन्तु मण्डलायुक्त द्वारा अपील निरस्त कर दी गई।

जैसे मानचित्र सं. 151-1996-97 डॉ आरडी मित्तल व मानचित्र सं.-600-1996-97 डॉ इन्द्रा भार्गव तथा मानचित्र सं.-606-1996-97 डॉ रामनिवास बंसल मानचित्र सं0-56-1997-98 अरूना जैन मानचित्र सं.-272-1997-98 डॉ पुनम शर्मा मानचित्र सं.-636-1997-98 डॉ निखिलेश बनर्जी मानचित्र सं.-752-1997-97 डॉ जगजीत मनचन्दा मानचित्र सं.-104-1998-99 डॉ डीके गर्ग मानचित्र सं.-341-1998-99 व 366-1999-2000,तथा 824-1999-2000 और 368-2011-2012 आदि डाक्टरों द्वारा आवासिये मानचित्रो पर नर्सिग होम चले आ रहे है। उपाध्यक्ष द्वारा तीन सदस्य समिति बना कर तुरन्त कार्यवाही करने के आदेश पारित किये। जिसमें सचिव सहारनपुर विकास प्राधिकरण द्वारा 12 अक्टुबर को डॉ विनिता मल्होत्रा को तीन दिन में परिसर खाली करने के नोटिस जारी किया। ताकि ध्वस्ति करण की कार्यवाही अमल में लाई जाए। सहानरपुर के इतिहास मे 25 साल प्राधिकरण को स्थिापित हुए हो गये है। पहली बार उपाध्यक्ष आशिष कुमार के सख्त व इमानदार छवी वाले अधिकारी के इस निर्णय से अवैध निमार्ण करने वालो की अब खेर नहीं।